अनामिका केस के बाद 746 आवासीय स्कूलों की जांच का आदेश

लखनऊ। यूपी के 25 जिलों में अनामिका शुक्ला नाम से नौकरी करने के खुलासे के बाद यूपी के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने लड़कियों के लिए बने सभी 746 आवासीय स्कूलों के रिकॉर्ड की जांच का आदेश दिए हैं।
उन्होंने कहा कि मामले की पूरी जांच होगी, जिसकी भी लापरवाही सामने आएगी उसे बख्शा नहीं जाएगा।
वहीं दूसरी ओर पुलिस ने अनामिका के असली प्रिया सिंह नाम पर भी एफआईआर दर्ज की है। यह मुकदमे रायबरेली, अंबेडकरनगर, बागपत, अलीगढ़ और सहारनपुर के बेसिक शिक्षा अधिकारियों (बीएसए) की शिकायतों पर दर्ज की गई है।
इस बीच अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा कि शिक्षा विभाग ने आंतरिक जांच शुरू कर दी है। उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स की रिपोर्ट पर एफआईआर दर्ज की गई है, जो मामले की जांच कर सकती है। उन्होंने कहा, हम राज्य भर में अलग-अलग ‘अनामिका’ के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने का इंतजार कर रहे हैं और फिर अगर किसी विशेष सेल या एसटीएफ की जरूरत पड़ी तो इसकी जांच भी कराई जाएगी। रायबरेली के बीएसए आनंद प्रकाश की शिकायत में अनामिका मार्च 2019 में बछरावां के केजीबीवी में एक विज्ञान शिक्षक के रूप में शामिल हुईं। बीएसए ने कहा, प्रारंभिक जांच के दौरान यह सामने आया है कि अनामिका शुक्ला ने अंबेडकरनगर, सहारनपुर, बागपत, अलीगढ़, वाराणसी, कासगंज, अमेठी में भी काम किया है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *