चौराहे पर बाला साहेब ठाकरे की मूर्ति स्‍थापित करने का विरोध

मुंबई। शिवसेना के संस्थापक स्वर्गीय बाला साहेब ठाकरे के स्टैच्यू को बीएमसी एमजी रोड स्‍थित डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी चौक पर लगाना चाहती है। इस मूर्ति को वहां स्थापित भी कर दिया गया है लेकिन अभी यह खोली नहीं गई है। अधिकारियों का कहना है कि अभी कुछ काम बचा हुआ है काम पूरा होने के बाद इसका उद्घाटन किया जाएगा जबकि लोगों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया है। स्थानीय नागरिकों का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार सार्वजनिक सड़कों पर इस तरह के स्टैच्यू नहीं लगाए जा सकते हैं।
राहगीरों को होती है दिक्कत
आपली मुंबई (Aapli Mumbai) एनजीओ के प्रेसीडेंट आई. सी. राव के मुताबिक इस बात का विरोध साल 2019 में भी हुआ था। उन्होंने बताया कि इससे राहगीरों को दिक्कत होती है और उनकी सुरक्षा के लिए खतरा पैदा होता है। साथ ही जब ऐसे उद्घाटन समारोह होते हैं तब पूरी रोड को बंद कर दिया जाता है। ऐसे में सुरक्षा ज्यादा जरूरी है राजनीति नहीं। यह मूर्ति यहाँ लगने के बाद बहुत सारे लोग सेल्फी खींचने आएंगे जिसकी वजह से ट्रैफिक का भी प्रॉब्लम होगा। मुंबई में पहले से ही ट्रैफिक की काफी समस्या है।
सुन्दरन नाडर की प्रतिमा पर दिया था सुप्रीम कोर्ट ने आदेश
सर्वोच्च न्यायालय ने यह फैसला तब दिया था। जब केरल की सरकार स्वर्गीय सुंदरन नाडर के स्टैच्यू को लगाना चाहती थी। हालांकि बीएमसी में स्थाई समिति के अध्यक्ष यशवंत जाधव का कहना है कि मुंबई और महाराष्ट्र के लिए बाला साहेब ठाकरे के बलिदान की तुलना नहीं की जा सकती है। मुंबईकरों ने इस बात का विरोध नहीं किया है और जहां पर यह स्टैच्यू लगाया जाना है वहां पर्याप्त जगह है। किसी को किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *