कानपुर में हुई घटना को लेकर विपक्षी दल योगी सरकार पर हावी

लखनऊ। कानपुर में हुई घटना को लेकर अब विपक्षी दल बीजेपी की योगी सरकार पर हावी हो गए हैं। गौरतलब है कि कानपुर में शातिर अपराधी विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई गईं। इस घटना में 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए। सीओ बिल्हौर देवेंद्र मिश्र, एसओ शिवराजपुर महेश यादव समेत एक सब इंस्पेक्टर और 5 सिपाही मुठभेड़ में शहीद हुए हैं।
अखिलेश यादव ने इस घटना पर कहा है कि योगी सरकार के मुठभेड़ के नाटक के कारण यह घटना हुई। वहीं मायावती ने इस घटना को शर्मनाक बताया है। समाजवादी पार्टी ने योगी सरकार को रोगी सरकार बताया है तो प्रियंका गांधी ने घटना को भयावह बताया है।
समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, ‘कानपुर की दुखद घटना में पुलिस के 8 वीरों की शहादत को श्रद्धांजलि!
उत्तर प्रदेश के आपराधिक जगत की इस सबसे शर्मनाक घटना में सत्ताधारियों और अपराधियों की मिलीभगत का ख़ामियाज़ा कर्तव्यनिष्ठ पुलिसकर्मियों को भुगतना पड़ा है अपराधियों को जिंदा पकड़कर वर्तमान सत्ता का भंडाफोड़ होना चाहिए।’
‘रोगी सरकार का हत्या प्रदेश’
समाजवादी पार्टी के आधिकारिक अकाउंट से ट्वीट किया गया, ‘रोगी सरकार’ के जंगलराज में ‘हत्या प्रदेश’ बने यूपी के कानपुर में दबिश के दौरान सत्ता संरक्षित अपराधियों द्वारा हमले में CO समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद, अत्यंत दुखद! आत्मा को शांति दे भगवान! शोकाकुल परिजनों के प्रति संवेदना! 1-1 करोड़ ₹ मुआवजे का हो ऐलान। सत्ता कनेक्शन का हो पर्दाफाश!’
‘पोलपट्टी खुलने का डर इसलिए मुठभेड़ का नाटक करवा रही सरकार’
अखिलेश यादव ने एक दूसरा ट्वीट किया और घटना को योगी सरकार के नाटक का नतीजा बताया, ‘यूपी की भाजपा सरकार अपनी पोलपट्टी खुलने के डर से आनन-फ़ानन में मुख्य अपराधी को न पकड़कर छोटी-मोटी मुठभेड़ दिखाने का नाटक करवा रही है। इससे पुलिसकर्मियों का मनोबल और गिरेगा तथा पुलिस का आक्रोश भी बढ़ेगा। सरकार तुरंत मुआवजा घोषित करे व परिजनों को हर संभव संरक्षण दे।’
‘बिगड़ चुकी कानून व्यवस्था, अपराधी बेखौफ’
कांग्रेस के महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट में लिखा, ‘बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस पर बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी जिसमें यूपी पुलिस के सीओ, एसओ सहित 8 जवान शहीद हो गए। यूपी पुलिस के इन शहीदों के परिजनों के साथ मेरी शोक संवेदनाएं। यूपी में कानून व्यवस्था बेहद बिगड़ चुकी है, अपराधी बेखौफ हैं। आमजन व पुलिस तक सुरक्षित नहीं है। कानून व्यवस्था का जिम्मा खुद सीएम के पास है। इतनी भयावह घटना के बाद उन्हें सख्त कार्यवाही करनी चाहिए। कोई भी ढिलाई नहीं होनी चाहिए।’
‘शर्मनाक और दुर्भाग्यपूर्ण घटना’
मायावती ने ट्विटर पर लिखा, ‘ घटना अति-दुःखद, शर्मनाक व दुर्भाग्यपूर्ण। स्पष्ट है कि यूपी सरकार को खासकर कानून-व्यवस्था के मामले में और भी अधिक चुस्त व दुरुस्त होने की जरूरत है। इस सनसनीखेज घटना के लिए अपराधियों को सरकार को किसी भी कीमत पर छोड़ना नहीं चाहिए, चाहे इसके लिए विशेष अभियान चलाने की जरूरत क्यों न पड़े। सरकार मृतक पुलिस के परिवार को समुचित अनुग्रह राशि के साथ ही परिवार के किसी सदस्य को नौकरी भी दे, बीएसपी की यह मांग है।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *