Jaish का खात्मा होने तक कश्मीर में जारी रहेंगे ऑपरेशन: सेना

श्रीनगर। दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल में रविवार को सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में Jaish -ए-मोहम्मद के तीन आतंकियों को मार गिराया था। आतंकियों की शिनाख्त Jaish  के आतंकी के रूप में हुई है। इनमें एक पाकिस्तान का आतंकी मारा गया है, जबकि एक आतंकी मुदस्सर है। सैन्य अधिकारियों ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में पुलिस के साथ मिलकर संयुक्त प्रेस वार्ता की। उन्होंने कहा कि जब तक सभी आतंकी मारे नहीं जाते ऐसे ऑपरेशन जारी रहेंगे।

अधिकारियों ने बताया कि साल 2019 के पहले 70 दिनों में, सुरक्षा बलों ने 44 आतंकवादियों को खत्म करने में सफलता हासिल की है। इसमें मुख्य रूप से जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी शामिल हैं।

साल 2018 में जहां एलओसी पर पाकिस्तान ने 1629 बार युद्धविराम उल्लंघन किया था। वहीं इस साल अबतक पाक ने 478 बार युद्धविराम उल्लंघन एलओसी पर किया है।

जम्मू-कश्मीर पुलिस के आईजी एसपी पाणी ने बताया कि सुरक्षाबलों के लगातार ऑपरेशन ऑल आउट के चलते बीते चार महीनों में भर्ती प्रक्रिया में गिरावट आई है।

चिनार कोर के जीओसी केजेएस ढिल्लों ने बताया कि पुलवामा हमले के 21 दिन के भीतर ही 18 आतंकियों को ढेर कर दिया गया है। जिसमे से 14 जैश के आतंकी थे। वहीं इन 14 आतंकियों में से छह जैश के कमांडर थे। इन आतंकियों में जैश का प्रमुख कमांडर मुदस्सर मारा गया। वह पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर हमला करने में शामिल था।

मुठभेड़ में पुलवामा हमले की साजिश रचनेवाला Jaish आतंकवादी मुदस्सिर अहमद मारा गया: अधिकारी

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमले की साजिश रचनेवाला आंतकवादी दक्षिणी कश्मीर के त्राल क्षेत्र में हुई मुठभेड़ में मारा गया। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि जैश ए-मोहम्मद का आतंकवादी मुदस्सिर अहमद उर्फ ‘मोहम्मद भाई’ पुलवामा जिले के त्राल के पिंग्लिश क्षेत्र में कल रात मुठभेड़ के दौरान मारे गए दो आतंकवादियों में से एक है। उन्होंने बताया कि खान और जैश-ए-मोहम्मद के एक अन्य आतंकवादी सज्जाद भट सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारे गये। भट की ही गाड़ी का पुलवामा आतंकवादी हमले में इस्तेमाल किया गया था।

– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *