ऑपरेशन ऑलआउट-2: सेना की हिट लिस्‍ट में सबसे ऊपर हैं दस आतंकवादी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन लागू होने के बाद आर्मी और सुरक्षाबलों ने आतंक के खिलाफ अपना ऑपरेशन ऑलआउट-2 शुरू कर दिया है। सुरक्षाबलों की लिस्ट में करीब 300 आतंकियों के नाम हैं। इन 300 लोगों की लिस्ट में करीब 10 आतंकियों को सबसे खतरनाक आतंकियों की श्रेणी में रखा गया है।
जिन आतंकियों को टॉप लिस्ट में रखा गया है, उनमें वे आतंकी भी शामिल हैं जो पत्रकार शुजात बुखारी और सेना के जवान औरंगजेब की हत्या में शामिल थे। ऑपरेशन ऑलआउट के पार्ट 1 में सुरक्षाबलों ने करीब 200 आतंकियों को मार गिराया था। इसी बीच बीएसएफ ने सुरक्षा बलों ने 60 एनएसजी स्नाइपर्स को भी तैनात किया है, ये स्नाइपर्स जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ की कोशिश कर रहे आतंकियों और बीएसएफ को टारगेट पर लेने वाले पाकिस्तानी स्नाइपर्स को निशाना बनाएंगे। बता दें कि रमजान के दौरान आतंक विरोधी ऑपरेशन पर रोक लगा दी गई थी।
बुधवार को जम्मू और कश्मीर में राज्यपाल शासन लागू हो गया था। सुरक्षा बल अब आतंकियों पर दया दिखाने के मूड में नहीं हैं। इसके अलावा कश्मीर में एनएसजी कमांडों की तैनाती भी बढ़ा दी गई है।
आर्मी की हिट लिस्ट में हैं ये आतंकी
जाकिर मूसा
इस लिस्ट में जिस आतंकी को A++ कैटिगरी में रखा गया है, उनमें अनसार गजवत-उल-हिंद के प्रमुख जाकिर मूसा को सबसे ऊपर रखा गया है। अनसार गजवत-उल-हिंद अल-कायदा का कश्मीरी संगठन है। बुराहन वानी की मौत के बाद मूसा को इस संगठन का काम सौंपा गया था। मूसा अवंतीपोरा के नूरपोरा का रहने वाला है।
डॉक्टर सैफुल्ला
सैफुल्ला को अबु मुसैब के नाम से भी जाना जाता है। सैफुल्ला श्रीनगर इलाके में हिजबुल मुजाहिदीन का प्रमुख है। वह पुलवामा के मालंगपोरा का रहने वाला है। वह आतंकियों की सर्जरी भी करता है।
नवेद जट
इसे अबु हंजाला के नाम से भी जानते हैं। पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या के बाद हंजला को काफी चर्चा मिली। हंजला पाकिस्तान का रहने वाला है। वह लश्कर-ए-तयैबा के लिए काम करता है। हंजला को भी A++ कैटिगरी में रखा गया है।
जहूर अहमद ठोकर
ठोकर सिरनू का रहने वाला है और 2017 से आतंकी गतिविधियों में शामिल है। हाल में जवान औरंगजेब की हत्या में ठोकर के शामिल होने की खबर है।
जुबैर-उल-इस्लाम
जुबैर हिजबुल मुजाहिदीन का कश्मीर में प्रमुख है। वह पुलवामा के बैगपुरा का रहने वाला है। सब्जार अहमद भट्ट की मौत के बाद जुबैर को उसकी जगह मिली थी। जुबैर को टैक्नॉलजी का जानकार माना जाता है।
अल्ताफ कचरू उर्फ मोइन उल-इस्लाम
अल्ताफ हिजबुल मुजाहिदीन का कुलगाम का प्रमुख है। 2015 में सुरक्षाबलों पर हुए हमलों का मास्टरमाइंड है। अल्ताफ साइंस में ग्रेजुएट है।
जीनत उल-इस्लाम उर्फ अलकामा
जीनत को लश्कर-ए-तैयबा में उस दौरान ऊची रैंक मिली, जब अमरनाथ हमले के मास्टरमाइंड अबु इस्माइल को मार गिराया गया। 2017 में शोपियां हमले का मास्टरमाइंड जीनत ही था।
वसीम अहमद उर्फ ओसामा
वसीम लश्कर का शोपियां जिले के कमांडर है। वह बुराहन वानी के ग्रुप में शामिल था।
समीर अहमद
अल-बदर टैरर ग्रुप के सदस्य समीर पर कई आतंकी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »