ऑनलाइन सर्वे: 67 फीसदी भारतीयों ने माना, मोदी सरकार सही डायरेक्‍शन में

नई दिल्‍ली। एक ऑनलाइन सर्वे में 67 फीसदी भारतीयों ने माना है कि मोदी सरकार में देश सही दिशा में जा रहा है लेकिन कई मुद्दों परेशान लोगों की तादाद भी कम नहीं है।
समाचार एजेंसी पीटीआई की खबर के मुताबिक मार्केट रिसर्च कंपनी इपसोस ने ‘What Worries the World’ (दुनिया को क्या चिंता है) नाम से एक सर्वे किया। सर्वे में शामिल 44 फीसदी लोगों का हवाला देते हुए दावा किया गया है कि वे भारत में बेरोजगारी, आर्थिक और राजनीतिक भ्रष्टाचार से परेशान हैं। सर्वे में 33 फीसदी भारतीयों ने अपराध और हिंसा पर चिंता जताई। 31 फीसदी भारतीयों ने गरीबी और सामाजिक असमानता को एक प्रमुख मुद्दा बताया। आतंकवाद का मुद्दा भी रहा, जिसके लिए 21 फीसदी लोगों ने कहा कि वे चिंतित हैं। 19 फीसदी भारतीयों ने शिक्षा के मुद्दे पर चिंता प्रकट की। 16 फीसदी ने कहा कि पर्यावरण को खतरा है। 15 फीसदी लोगों ने टैक्स की समस्या बताई। 14 फीसदी लोग जलवायु परिवर्तन को लेकर चिंतित दिखे। 13 फीसदी ने स्वास्थ्य देखभाल, 11 फीसदी ने मुद्रास्फीति और 10 फीसदी लोगों ने नैतिक गिरावट के मुद्दे पर चिंता प्रकट की। इस सबके बीच 67 फीसदी भारतीयों ने भरोसा जताया कि देश सही दिशा में जा रहा है।
दिलचस्प बात यह है कि ग्लोबल ट्रेंड में उदास बहुत से बाजारों में से 28 बाजारों को लेकर किए सर्वेक्षण किया गया, जिसमें कम से कम 60 फीसदी लोगों ने कहा कि उनका देश गलत रास्ते पर है। सर्वे के मुताबिक शीर्ष चार बाजार अपने देश की दिशा को लेकर आशावादी हैं, उनमें 92 फीसदी के लोगों के साथ चीन, 78 फीसदी लोगों के साथ सऊदी अरब, 67 फीसदी लोगों के साथ भारत और 65 फीसदी लोगों के साथ मलेशिया शामिल हैं। सर्वे में विश्व के लोगों की राय में 34 फीसदी आर्थिक और राजनीतिक भ्रष्टाचार, 33 फीसदी गरीबी और समाजिक असमानता, 31 फीसदी अपराध और हिंसा और 24 फीसदी स्वास्थ्य देखबाल को लेकर चिंतित बताए गए।
भारतीयों के मामले में आतंकवाद जहां सूची में पांचवें नंबर पर चिंता का मुद्दा हैं, वहीं वैश्विक सूची में पांचवें नंबर पर वह नहीं है। कुछ बाजार अपने देश की दिशा को लेकर नाखुश हैं और उसके भविष्य को लेकर घोर निराशावादी है। इनमें विशेष रूप से ब्राजील, स्पेन, दक्षिण अफ्रीका, फ्रांस और पेरू शामिल हैं। ‘व्हॉट वरीज द वर्ल्ड सर्वे’ मासिक ऑनलाइन सर्वेक्षण है, जिसमें 65 वर्ष की उम्र तक के व्यस्क हिस्सा लेते हैं। इसे इपसोस ऑनलाइन पैनल सिस्टम के द्वारा 28 देशों में कराया गया था। इन 28 देशों में भारत के अलावा अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम, ब्राजील, कनाडा, चिली, चीन, फ्रांस, ग्रेट ब्रिटेन, जर्मनी, हंगरी, इजरायल, इटली, जापान, मलेशिया, मेक्सिको, पेरू, पोलैंड, सऊदी अरब, सर्बिया, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, स्पेन, स्वीडन, तुर्की और संयुक्त राज्य अमेरिका शामिल हैं।

-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *