लॉकडाउन में गैर-जरूरी वस्तुओं की ऑनलाइन बिक्री पर रोक बरकरार

नई दिल्‍ली। कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन के बीच ई-कॉमर्स कंपनियों की गैर जरूरी वस्तुओं की बिक्री की उम्मीदों को रविवार को झटका लगा है। सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि गैर जरूरी वस्तुओं की बिक्री अब लॉकडाउन खत्म होने के बाद ही की जा सकेगी। इससे पहले केंद्र ने ई-कॉमर्स कंपनियों को 20 अप्रैल से गैर जरूरी वस्तुओं की बिक्री को मंजूरी दी थी।
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने रविवार को ट्वीट किया, ‘लॉकडाउन के दौरान ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा गैर-जरूरी वस्तुओं की बिक्री पर लगी रोक बरकरार रहेगी।’
केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने इस बारे में आदेश जारी किया। संशोधित दिशा-निर्देशों से ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा गैरजरूरी उत्पादों की बिक्री को हटा दिया गया है। आदेश में कहा गया है कि ई-कॉमर्स कंपनियों से संबंधित प्रावधान जिसमें उनके वाहनों को आवश्यक अनुमति के साथ आवाजाही की अनुमति दी गई थी, उनको दिशा-निर्देशों से हटाया जा रहा है। हालांकि, इस आदेश को पलटने की वजह तत्काल पता नहीं चल पाई है।
20 अप्रैल से शुरू होनी थी टीवी-फ्रिज की ऑनलाइन खरीदारी
इससे पहले 3 मई तक ‘लॉकडाउन’ बढ़ाए जाने के दौरान क्या-क्या हो सकेगा, इसको लेकर कहा गया था कि मोबाइल फोन, टीवी, लैपटॉप जैसे इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद ई-कॉमर्स कंपनियों के मंच पर 20 अप्रैल से उपलब्ध होंगे। हालांकि इन सामानों की डिलिवरी करने वाले वाहनों को सड़कों पर चलाने के बारे में संबंधित प्राधिकरण से मंजूरी लेनी होगी लेकिन अब गाइडलाइन्स में फिर बदलाव किया गया है।
25 मार्च से ठप है कारोबार
बुधवार को जारी दिशानिर्देश में जरूरी और गैर-जरूरी जिंसों के बारे में स्पष्टीकरण नहीं दिया गया था। सरकार के इस कदम को औद्योगिक और वाणिज्यिक गतिविधियां शुरू करने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है। ये गतिविधियां 25 मार्च से जारी बंद से ठप हैं। बड़ी संख्या में लोग ई-कॉमर्स कंपनियों के ‘लॉजिस्टिक’ और सामानों की आपूर्ति के काम से जुड़े हैं। इन क्षेत्रों को खोलकर सरकार कर्मचारियों के एक बड़े तबगे के हितों की रक्षा करना चाहती है।
खुदरा व्‍यापारियों ने खुशी जताई
लॉकडाउन के दौरान कल से ई कॉमर्स कंपनियों को नॉन असेंशल सामानों की ऑनलाइन बिक्री की छूट वापस लिए जाने पर देश के खुदरा व्यापारियों ने खुशी जाहिर की है। उनका कहना है कि आज शाम सात बजे देश के सभी खुदरा व्यापारी थाली, शंख आदि बजाएंगे लेकिन अब विरोध करने के लिए नहीं बल्कि सरकार का आभार प्रकट करने के लिए।
इससे पहले ऑनलाइन कंपनियों को 20 अप्रैल से नॉन असेंशल सामानों की बिक्री का छूट दिए जाने के सरकार के फैसले के विरोध में खुदरा व्यापारियों ने पहले आज शाम सात बजे थाली, घंटी और शंख बजाने का फैसला किया था। फेडरेशन ऑफ आल इंडिया व्यापार मंडल के राष्ट्रीय महामंत्री वी के बंसल ने हमें बताया कि ई-कॉमर्स साइटों के जरिये गैर जरूरी सामानों की बिक्री 3 मई तक रोक दी गई है। फेडरेशन ने इस लड़ाई को बेहतर तरीके से लड़ा और जीत हासिल की। अब देश के सभी खुदरा व्यापारी आज शाम सात बजे सरकार का आभार प्रकट करने एवं उनका अभिनंदन करने के लिए थाली, घंटी और शंख बजाएंगे।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *