GL बजाज ने किया ऑनलाइन फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम

मथुरा। कोरोना संक्रमणकाल में जब स्कूल-कॉलेज बंद हैं, ऐसे समय में शिक्षा में सुधार हेतु जी. एल. बजाज ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस मथुरा द्वारा 22 घंटे के ऑनलाइन इंटरनेशनल फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में विभिन्न कम्पनियों और शिक्षा के क्षेत्र में शोध कार्यों से जुड़े विषय विशेषज्ञों ने इंडस्ट्री और एज्यूकेशन के गैप को कम करने पर अपने-अपने विचार साझा किए। कार्यक्रम का शुभारम्भ संस्थान की निदेशक प्रोफेसर (डॉ.) नीता अवस्थी ने किया।

इन दिनों सरकार के शिक्षा सम्बन्धी निर्णयों और प्रयासों के लिए नई रूपरेखा तैयार करने वाली राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 चर्चा में है। भारतीय शिक्षा प्रणाली में आने वाले इस बड़े परिवर्तन से आशाओं, सपनों और आकांक्षाओं में नई उमंग महसूस की जा रही है। भारत की इस तीसरी शैक्षिक नीति का उद्देश्य भारतीय शिक्षा की संरचना को और अधिक गतिशील, लचीला और प्रासंगिक बनाना है।

Online International Faculty Development Program in GL Bajaj Mathura
Online International Faculty Development Program in GL Bajaj Mathura

इस कार्यक्रम में शिक्षा विशेषज्ञों ने माना कि मल्टी-डिसिप्लिन व रिसर्च को बढ़ावा मिलने से उच्च शिक्षा संस्थान और व्यावसायिक शिक्षा संस्थान विभिन्न वैकल्पिक पाठ्यक्रमों के माध्यम से विविध क्षेत्रों में सीखने के अवसर प्रदान करने वाले समग्र संगठन के रूप में विकसित होंगे। इससे तथाकथित पुराने स्ट्रीम में पढ़ने वाली सीमाओं को तोड़ा जा सकेगा। यह प्रैक्टिकल एज्यूकेशन को बढ़ावा देने और इंटर-डिसिप्लिन व अन्य क्षेत्रों को तलाशने के लिए एक आवश्यक कदम है।

कई दिनों तक चले इस प्रोग्राम को गूगल मीट प्लेटफार्म पर कराया गया। इस प्रोग्राम का उद्देश्य छात्र-छात्राओं को जॉब आधारित शिक्षा उपलब्ध कराना हैI यह प्रोग्राम संस्थान की निदेशक प्रोफेसर (डॉ.) नीता अवस्थी के मेंटरशिप में कराया गया। डॉ. रमाकांत बघेल हेड ऑफ कम्प्यूटर साइंस एण्ड इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट इस प्रोग्राम के कोऑर्डिनेटर और सचिन उपाध्याय सहायक कोऑर्डिनेटर रहे। इस प्रोग्राम को कम्प्यूटर साइंस एण्ड इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट द्वारा आयोजित किया गया। प्रोग्राम में विभिन्न कम्पनियों और एज्यूकेशन रिसर्च से जुड़े लोगों ने अपने अपने विचार साझा किए।

कार्यक्रम के पहले सत्र में हेड कॉस्ट ऑफ डिलीवरी विप्रो लिमिटेड अशोक कुमार सांगवान ने इंडस्ट्री अवेयरनेस और डाटा साइंस के बारे में बहुमूल्य जानकारी दी। दूसरे सत्र में निदेशक, अथर्वश्रीष कॉन्सल्टिंग हैदराबाद के पंकज वर्मा ने नए इंजीनियरों से कम्पनियों की अपेक्षाएं तथा तीसरे सत्र में नीरज बघेल (जूनियर रिसर्च फेलोशिप, आईआईआईटी स्रिसिटी) ने डीप लर्निंग इन टाइम सीरीज विषय पर प्रकाश डाला। इस कार्यक्रम में जी.एल. बजाज संस्थान के डीन स्टूडेंट वेलफेयर डॉ. श्रवण कुमार, सभी हेड ऑफ डिपार्टमेंट, फैकल्टी मेम्बर्स तथा विभिन्न विश्वविद्यालयों तथा कॉलेजों के डेढ़ सौ से अधिक लोगों ने सहभागिता की।
– Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *