एक प्रकार का कैंसर है soft tissue sarcoma, ज‍िससे ग्रस‍ित थे जेटली

soft tissue sarcoma एक रेयर कैंसर है जो शरीर के चारों ओर मौजूद टिश्यू में हो जाता है। इसमें मांसपेशियों, वसा, रक्त वाहिकाओं, तंत्रिकाओं के साथ-साथ ज्वांइट्स भी शामिल हैं।

soft tissue sarcoma के 50 से अधिक उप प्रकार मौजूद हैं। उसके कुछ प्रकार बच्चों को भी हो जाते है। इसके अलावा इस बीमारी से सबसे ज्यादा युवा चपेट में आ रहे है। इतना ही नहीं इस बीमारी को डायग्नोसिस करना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि यह कई तरह से बढ़ता है।

यह बीमारी शरीर के किसी भी भाग में हो सकती है, लेकिन सबसे ज्यादा असर आर्म्स और पैरों पर होता है। सर्जरी के द्वारा इस बीमारी में आराम मिल सकता है, बर्शते इसकी प्रारंभिक स्टेज पर ही इसका पता चल सके।

सॉफ्ट टिश्यू सरकोमा के लक्षण

सॉफ्ट टिश्यू सरकोमा के शुरुआती दिनों में कोई भी लक्षण या संकेत सामने नहीं आते है। ट्यूमर बढ़ना भी इसका एक कारण हो सकता है।
शरीर में गांठ या सूजन होना
दर्द होना, जब ट्यूमर नसों या मांसपेशियों को दबाता है

कब करें डॉक्टर से संपर्क
अगर आपको कुछ ऐसा दिखें तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

एक गांठ जो आकार में बढ़ने के साथ-साथ असहनीय दर्द दे रही हो।
गांठ जो एक मांसपेशी के भीतर गहरी स्थित हो और छूने पर पता चल रही हो।
गांठ हटाने के बाद दोबारा निकल आई हो।

रेयर कैंसर

कैंसर ऐसी खतरनाक बीमारी है जिससे हर साल लाखों लोगों की मौत हो जाती है। कैंसर के कई प्रकार होते है, जैसे ब्रेस्ट कैंसर, ब्लड कैंसर, कान का कैंसर, मुंह का कैंसर। लेकिन इसके अलावा सॉफ्ट टिश्यू सरकोमा नाम का एक रेयर कैंसर भी होता है जो धीरे धीरे लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है।
Health Desk : Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »