पाकिस्‍तान के न्‍योते पर भी SAARC सम्मेलन में हिस्‍सा लेने नहीं जाएंगे पीएम मोदी: सुषमा

भोपाल। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पड़ोसी देश पाकिस्‍तान द्वारा SAARC सम्मेलन में भारत को न्योता देने वाली खबरों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी SAARC सम्मेलन में हिस्सा लेने पाकिस्तान नहीं जाएंगे।
भारत ने पड़ोसी पाकिस्तान को एक बार फिर साफ किया है कि आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकती है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पड़ोसी देश के SAARC सम्मेलन में भारत को न्योता देने वाली खबरों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि आतंक रोकने तक बातचीत नहीं हो सकती। विदेश मंत्री ने साफ-साफ कहा कि करतारपुर कॉरिडोर और बातचीत अलग-अलग मुद्दा है। उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी SAARC सम्मेलन में हिस्सा लेने पाकिस्तान नहीं जाएंगे।
बता दें कि मंगलवार को पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने SAARC सम्मेलन के लिए भारत को न्योता देने की बात कही थी। जब से पाकिस्तान के पास सार्क अध्यक्ष का पद गया है, इस संगठन की कोई बैठक नहीं हो पाई है।
सुषमा ने बुधवार को भोपाल में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि पड़ोसी से बातचीत कैसे हो सकती है। उन्होंने कहा, ‘ हमें पठानकोट और उड़ी हमले को भी देखना होगा। बात और आतंक साथ-साथ नहीं चल सकते हैं।’
सार्क समिट के लिए पीएम मोदी को पाक के न्योते पर सुषमा ने कहा, ‘SAARC सम्मेलन के लिए तिथि सभी सदस्यों की सहमति के आधार पर तय की जाती है। यह एक सामान्य परंपरा है। तारीख तय होने के बाद ही सदस्य राष्ट्रों को औपचारिक निमंत्रण भेजा जाता है।’
दूसरी ओर एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने इस संबंध में बताया, ‘भारत सार्क सम्मेलन में कोई विशिष्ट अतिथि नहीं है, जिसके लिए पाकिस्तान खास निमंत्रण भेजेगा। सार्क का भारत अभिन्न हिस्सा रहा है। सभी सदस्यों की सहमति के आधार पर ही सार्क सम्मेलन की तारीख तय की जाती है। हालांकि, यह अफसोसजनक है कि इस बार ऐसा नहीं हुआ।’
करतारपुर कॉरिडोर के सवाल पर सुषमा ने कहा, ‘सरकारें कोई भी रहीं हो सबने करतारपुर कॉरिडोर की मांग की थी। हम सब ऐसा चाहते थे।’ सुषमा ने कहा, ‘पिछले कई सालों से भारत सरकार करतारपुर कॉरिडोर खोलने के लिए पाकिस्तान से आग्रह कर रही थी। अब जाकर पाकिस्तान ने सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है। इसका मतलब यह नहीं हुआ कि इसके कारण द्विपक्षीय बातचीत शुरू हो जाएगी।’
गौरतलब है कि पाकिस्तान के पीएम इमरान खान आज ननकाना साहिब में कॉरिडोर का शिलान्यास करने वाले हैं।
नवजोत सिंह सिद्धू के करतारपुर साहिब पर दिए गए बयानों पर ध्यान दिलाने पर सुषमा ने कहा, ‘यह किसी एक व्यक्ति की कोशिश नहीं थी। यह सरकार से सरकार स्तर पर कोशिश थी। फैसले सरकार के स्तर पर होते हैं किसी निजी व्यक्ति के नहीं।’
पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह का पाकिस्तान में करतारपुर कॉरिडोर के होने वाले शिलान्यास नहीं जाने के फैसले और उनके मंत्री सिद्धू के पाकिस्तान जाने के फैसले पर सुषमा ने कहा, ‘इस पर कांग्रेस को प्रतिक्रिया देनी चाहिए। आखिर क्यों उनके मंत्री पाकिस्तान गए।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *