स्‍वतंत्रता दिवस पर भारतीय सेना के शिविर पाक आतंकवादियों के टारगेट: खुफिया एजेंसियां

नई दिल्‍ली। पाकिस्तान में भले ही नई सरकार बनने जा रही हो, पर आतंकवाद को लेकर उसकी नीतियों में बदलाव के संकेत नहीं दिख रहे हैं। एक तरफ जहां पूर्व क्रिकेटर इमरान खान 14 या 15 अगस्त को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं वहीं भारतीय खुफिया एजेंसियों ने आगाह किया है कि स्वतंत्रता दिवस पर पाकिस्तानी आतंकी भारतीय सेना के शिविरों पर बड़े हमले की साजिश रच रहे हैं।
इस बारे में प्राप्‍त जानकारी के मुताबिक मल्टी-एजेंसी कोऑर्डिनेशन सेंटर ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 15 अगस्त को सेना के शिविरों पर बड़ा हमला हो सकता है।
रिपोर्ट के मुताबिक आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के 20 से ज्यादा आतंकी हमले के लिए तैयार हैं। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी (ISI) को जैश-ए-मोहम्मद पर पूरा भरोसा है। इस बाबत दो रिपोर्ट हैं कि नियंत्रण रेखा (LoC) पर चूरा के पास कुछ आतंकी मौजूद हैं, जिन्हें तंगधार क्षेत्र में स्थित सेना के कैंप पर हमले के लिए भेजा गया है।
खबर है कि कुछ आतंकी सीमा पार कर गए हैं और फिलहाल वे रेकी कर रहे हैं। यह बात सैटलाइट फोन से पकड़ में आई है। दूसरी रिपोर्ट जैश-ए-मोहम्मद को लेकर है। जैश आतंकियों को बारामुला इलाके में हमले के लिए रवाना किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक पट्टन और बारामुला टाउन के बीच के इलाके में उन्हें हमले के लिए कहा गया है।
बताया जा रहा है कि हमले के लिए ये आतंकी जम्मू-कश्मीर के एक स्थानीय व्यक्ति की भी मदद ले रहे हैं। पुंछ, राजौरी में भी घुसपैठ या हमले का खतरा है।
क्या है आतंकी अलर्ट
1. पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में खोली नामक जगह से जैश के 5 आतंकी तंगधार में सेना के शिविरों पर हमले की साजिश रच रहे हैं।
2. आर्मी के कैंपों पर हमले से पहले आतंकियों को रेकी करने के लिए कहा गया है।
3. जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों को उत्तरी कश्मीर में केंद्रीय सुरक्षा बलों पर हमले के लिए भेजा गया है।
4. लश्कर के 6 आतंकी एक गाइड के साथ खोजाबंडी में टेरर लॉन्चपैड पर मौजूद हैं।
5. पुंछ के दूसरी तरफ से 3 आतंकी भारत में घुसने की फिराक में हैं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »