अगले साल भी ओलंपिक खेलों का आयोजन होना निश्‍चित नहीं

तोक्यो। कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के चलते तोक्यो ओलंपिक 2020 को अगले साल के लिए टाल दिया गया है। पर अब भी खेलों के इस महाकुंभ पर छाया संकट समाप्त नहीं हुआ है।
आयोजन समिति के अध्यक्ष ने कहा है कि अगर अगले साल तक भी कोरोना वायरस पर नियंत्रण नहीं पाया जा सका तो इन खेलों को रद्द कर दिया जाएगा।
जापान के अखबार निकन स्पोर्ट्स डेली के साथ इंटरव्यू में तोक्यो 2020 के अध्यक्ष योशिरो मोरी ने कहा कि अगर दुनिया कोरोना वायरस महामारी की चपेट में घिरी रहती है तो खेलों को 2021 से आगे नहीं टाला जा सकता है। इन परिस्थिति में उसे कैंसल ही करना होगा।
फिलहाल यह बताया गया है कि कोरोना वायरस महामारी के चलते स्थगित किए गए तोक्यो ओलंपिक अब अगले साल 23 जुलाई से आठ अगस्त तक आयोजित किए जाएंगे।
तोक्यो 2020 के प्रमुख योशिरो मोरी ने 30 मार्च को आनन फानन में बुलाई गई प्रेस कांफ्रेंस में कहा था, ‘अब ओलंपिक खेल 23 जुलाई से आठ अगस्त 2021 के बीच होंगे। पैरालंपिक खेल 24 अगस्त से पांच सितंबर के बीच होंगें।’
इससे कुछ घंटा पहले ही मोरी ने कहा था कि अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति इस सप्ताह नयी तारीखों पर फैसला लेगी। तोक्यो ओलंपिक इस साल 24 जुलाई से नौ अगस्त के बीच होने थे लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण के कारण इन्हें स्थगित करना पड़ा। आईओसी और जापान सरकार लगातार दोहराते रहे कि खेल निर्धारित समय पर होंगे लेकिन कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच खेल महासंघों और खिलाड़ियों के दबाव में उन्हें फैसला लेना पड़ा।
जापान पर बढ़ जाएगा अरबों डॉलर का भार
ऐसी भी अटकलें थी कि खेलों को बसंत के महीने में कराया जाए जब जापान में चेरी ब्लॉसम के खिलने का समय होता है लेकिन उस समय यूरोपीय फुटबाल और उत्तर अमेरिकी खेल लीग होती है। तोक्यो आयोजन समिति के प्रमुख योशिरो मोरी और सीईओ तोशिरो मुतो ने कहा था कि नयी तारीखों पर खेलों के आयोजन की लागत बहुत अधिक होगी। स्थानीय रपटों के अनुसार यह लागत अरबों डॉलर बढ़ जाएगी और इसका बोझ जापान के करदाताओं पर पड़ेगा।
मुतो ने लागत की गणना में पारदर्शिता बरतने का वादा किया। जापान आधिकारिक तौर पर ओलंपिक की मेजबानी पर 12.6 अरब डॉलर खर्च कर रहा है। जापानी सरकार के एक ऑडिट ब्यूरो ने हालांकि कहा कि लागत इसकी दुगुनी है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *