Heart Attack की संभावना को कम कर सकता है ऑलिव ऑइल का सेवन

इन दिनों देश ही नहीं दुनियाभर में डायबीटीज के बाद अगर कोई बीमारी सबसे तेजी से फैल रही है तो वह है Heart Attack और इसकी सबसे बड़ी वजह है हमारा खानपान का गलत तरीका। लिहाजा अपना तेल बदलकर आप Heart Attack के खतरे को कम कर सकते हैं।
Heart Attack और स्ट्रोक जैसी जिन बीमारियों को कुछ साल पहले तक उम्र से जुड़ी बीमारियां माना जाता था, वह अब 35 और 40 साल के मिडिल एज लोगों में भी तेजी से बढ़ रही है। इसके लिए हमारी गलत लाइफस्टाइल, खानपान का गलत तरीका और इनऐक्टिव लाइफस्टाइल जिम्मेदार है। ऐसे में अगर आप भी सोच रहे हैं कि कहीं आप भी हार्ट अटैक की चपेट में न आ जाएं तो आज ही एक चीज को अपनी डायट में शामिल कर लें और दिल का दौरा पड़ने के खतरे को कई गुना कम कर सकते हैं।
ऑलिव ऑइल के सेवन से हार्ट अटैक का खतरा कम
हार्ट अटैक का खतरा कम करने वाली जिस चीज की हम बात कर रहे हैं वह है- ऑलिव ऑइल। हाल ही में हुई एक स्टडी की मानें तो हमारे खून में एक तरह का प्रोटीन होता है जो ऑलिव ऑइल जैसी अनसैच्युरेटेड फैट वाली चीजें खाते ही बढ़ने लगता है और यह साबित हो चुका है कि ऑलिव ऑइल का नियमित रूप से सेवन करने से हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी समस्याओं से बचा जा सकता है।
खून में मौजूद प्रोटीन को बढ़ाता है ऑलिव ऑइल
हमारे खून में एक तरह का प्लाज्मा होता है जिसे अपोलिपोप्रोटीन ApoA-IV कहते हैं और जब हम ऑलिव ऑइल का सेवन करते हैं तो उसमें मौजूद अनसैच्युरेटेज फैट ApoA-IV के लेवल को बढ़ाता है जिसकी वजह से हृदय से जुड़ी सभी तरह की बीमारियों का खतरा कई गुना कम हो जाता है। जब आप ऑलिव ऑइल में पका खाना खाते हैं तो खून में मौजूद प्लेटलेट्स उत्तेजित हो जाती हैं और वे सफेद रक्त कोशिकाओं के साथ मिलने जुलने लगती हैं। इस मेल जोल से प्लेटलेट्स की हाइपरऐक्टिविटी कम होती है और इससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा भी कम हो जाता है।
ऑलिव ऑइल के साथ-साथ नींद भी है बेहद जरूरी
हालांकि ऑलिव ऑइल या इसमें पके खाने का सेवन करने के बाद सोना बेहद जरूरी है क्योंकि स्टडीज में यह बात साबित हो चुकी है कि ApoA-IV रात के वक्त जब हम सो रहे होते हैं उस वक्त सबसे ज्यादा ऐक्टिव रहता है और दिल से जुड़ी बीमारियों को हर तरह से कंट्रोल करने में मदद करता है लेकिन सुबह के वक्त जब हम जाग रहे होते हैं उस वक्त ApoA-IV प्रोटीन का लेवल सबसे कम रहता है।
शरीर को आराम और पोषक तत्वों की जरूरत
सेंट माइकल्स हॉस्पिटल कीनन रिसर्च सेंटर फॉर बायोमेडिकल साइंस में की गई इस स्टडी के नतीजे इस बात का सबूत है कि हमें अपने शरीर के बॉडी क्लॉक को समझकर शरीर को सही तरीके से आराम देने की जरूरत है। साथ ही साथ शरीर को पोषक तत्वों से भरपूर भोजन की भी जरूरत ताकि हमारा शरीर बीमारियों से बचा रहे और हम बने रहें फिट और हेल्दी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »