KD हाॅस्पिटल के नर्सिंग स्टाफ ने लिया कोरोना को हराने का संकल्प

मथुरा। KD Medical College Hospital and Research Center के नर्सिंगस्टाफ ने आज अंतर्राष्ट्रीय नर्सिंग डे पर वैश्‍विक महामारी CORONA VIRUS को हराने का संकल्प लिया। RK एजुकेशन हब के अध्यक्ष डॉ. रामकिशोर अग्रवाल, उपाध्यक्ष पंकज अग्रवाल, चेयरमैन मनोज अग्रवाल, कॉलेज के डीन डॉ. रामकुमार अशोका ने अपने संदेश में नर्सिंग स्टाफ के जज्बे की सराहना करते हुए आह्वान किया कि उन्हें स्वयं की सुरक्षा और सजगता के साथ कोरोना संक्रमित लोगों की देखभाल करना चाहिए।

कॉलेज के डीन डॉ. रामकुमार अशोका ने कहा कि आज आधुनिक नर्सिंग की जननी फ्लोरेंस नाइटिंगेल की याद का दिन है। प्रीमिया युद्ध के दौरान फ्लोरेंस नाइटिंगेल ने लालटेन लेकर घायल सैनिकों की दिल से सेवा की थी, जिसके कारण ही उन्हें ‘लेडी व‍िथ द लैम्प’ कहा जाता है। ब्रिटि‍श परिवार में 12 मई, 1820 को जन्मी फ्लोरेंस नाइटिंगेल अपनी सेवाभावना के लिए याद की जाती हैं। उन्होंने 1860 में सेंट टॉमस अस्पताल और नर्सों के लिए नाइटिंगेल प्रशिक्षण स्कू‍ल की स्थापना की थी।

डाॅ. अशोका ने कहा कि लोगों के स्वास्थ्य को बेहतर रखने में नर्सों का बड़ा योगदान है। नर्सों को प्रशिक्षण दिया जाता है, ताकि वे मरीजों को मनोवैज्ञानिक, सामाजिक और चिकित्सकीय तौर पर फिट होने में मदद कर सकें। सही मायने में नर्सेज स्टाफ की सेवाभावना के लिए ही समाज में उन्हें सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है। डाॅ. अशोका ने बताया कि भारत में नर्सिंग-डे की शुरुआत 1973 में भारत सरकार के परिवार एवं कल्‍याण मंत्रालय ने की थी।

नर्सिंग-डे पर नर्सिंग सुपरिंटेंडेंट शशि बाला ने कहा कि किसी बीमार इंसान की जान बचाने में जितना योगदान डॉक्टर्स का है, उतना ही योगदान नर्सिंग स्टाफ का भी होता है। नर्सेज मरीजों की तन-मन से सेवा करती हैं तथा अपनी परवाह किए बिना मरीज की जान बचाती हैं, इसीलिए यह दिन उनके योगदान को समर्पित होता है।

इस अवसर पर थंगमा, अभिलाष, आरती, भावना, राखी, रणजीत सिंह, शिनी, स्नेहा, सुजी, शैबी, शीला ऐलेक्स, कुसुमलता, साधना, जोमल, विनोद सिंह, जायसन, अजय आदि ने नर्सिंग की संस्थापक फ्लोरेंस नाइटिंगेल को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *