अब युवराज सिंह ने भी बोर्ड और टीम मैनेजमेंट की आड़े हाथों लिया

नई दिल्‍ली। क्रिकेट वर्ल्ड कप-2019 से अब तब भारतीय टीम का सफर हैरान करने वाली हार के साथ खत्म हुआ तो सबसे अधिक चर्चा नंबर-4 के बल्लेबाज पर हो रही है।
टीम इंडिया को इस नंबर के लिए सही विकल्प नहीं ढूंढने के लिए आलोचनाओं का सामना करना पड़ा रहा है।
पूर्व सिलेक्टर संजय जगदाले के बाद अब युवराज सिंह ने बोर्ड और टीम मैनेजमेंट की आड़े हाथों लिया है।
हाल ही में क्रिकट से रिटायरमेंट लेने वाले पूर्व ऑलराउंडर ने कहा, ‘टीम मैनजेंटमेंट को नंबर-4 के लिए किसी को तराशना चाहिए था। अगर कोई नंबर-4 पर नहीं चल पा रहा था तो उस खिलाड़ी को बोलना चाहिए था आपको वर्ल्ड कप खेलना है। 2003 की तरह। उस वक्त टीम ने पहले न्यू जीलैंड से खेला था लेकिन अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था। इसी टीम ने 2003 का वर्ल्ड कप खेला।’
उल्लेखनीय है कि युवराज सिंह नंबर-4 पर उतरते थे और टी-20 वर्ल्ड कप-2007 और वनडे वर्ल्ड कप-2011 में उन्होंने टीम को चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। उन्होंने साथ ही कहा कि वह हैरान थे कि अंबाती रायुडू को टीम में सिलेक्ट नहीं किया गया। दूसरी ओर पंत को टीम में रखा गया और फिर ड्रॉप कर दिया गया। रायुडू ने तो संन्यास ही ले लिया।
युवी ने कहा कि नंबर-4 एक ऐसी जगह है, जहां कोई अच्छा कर रहा है तो उसे आपको सपॉर्ट करना होगा। किसी भी खिलाड़ी को इस तरह ड्रॉप नहीं किया जा सकता है। कार्तिक को भी यूज किया गया, लेकिन अंतत: नबर-4 के लिए टीम मैनजमेंट के पास कोई प्लान नहीं था।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *