अब सिंधिया समर्थक विधायकों का दिल्‍ली में हंगामा

ये समर्थक दिल्ली में सिंधिया के घर के बाहर जुटे और जमकर नारेबाजी की

नई दिल्‍ली। सिंधिया को तुरंत प्रदेश अध्यक्ष बनाये जाने की मांग के साथ jyotiraditya Scindia के 11 समर्थक विधायकों ने हंगामा कर दिया है। मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री के लिए कमलनाथ का एलान तो हो गया लेकिन कांग्रेस के लिए अब एक नई मुसीबत खड़ी हो गई है। ज्योतिरादित्य सिंधिया के 11 समर्थक विधायकों की मांग है कि अगर ऐसा नहीं होता तो उन्होंने सरकार के पक्ष में वोट न करने की धमकी दी है।

ये समर्थक दिल्ली में सिंधिया के घर के बाहर जुटे और जमकर नारेबाजी की। आपको बता दें कि अब तक ये जिम्मेदारी कमलनाथ संभाल रहे थे। जाहिर है, मुख्यमंत्री बनने के बाद, ये कुर्सी खाली हो जाएगी।

इससे पहले मुख्यमंत्री की दौड़ के लिए भी ज्योतिरादित्य और कमलनाथ का नाम साथ-साथ चल रहा था। सिंधिया को उपमुख्यमंत्री के पद की पेशकश की गई लेकिन उन्होंने ठुकरा दिया। यहां कमलनाथ बाजी मार ले गए। ऐसे में उनके समर्थक अब, उन्हें मध्यप्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर देखना चाहते हैं।

ज्योतिरादित्य सिंधिया बोले: पिता की तरह ही मुझे किसी पद की भूख नहीं

कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दावा किया कि मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री नहीं नियुक्त किए जाने पर उन्हें कोई पछतावा नहीं है। साथ ही कहा कि उन्होंने वही स्वीकार किया, जो पार्टी हाई कमांड ने करने के लिए कहा था। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि आप जो भी बोलते हैं, उसी का अभ्यास करना जीवन में महत्वपूर्ण होता है और मैंने कहा था कि मैं इस मामले में कांग्रेस हाई कमांड के फैसले को ही मानूंगा। साथ ही उन्होंने कहा कि उनके बजाय जब पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ को मुख्यमंत्री के रूप में चुना गया, तब उन्होंने विरोध नहीं किया।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »