अब आकाशगंगा में भी चमकेगा पंडित जसराज का नाम

नई दिल्‍ली। भारतीय शास्त्रीय संगीत के दिग्गज सितारे पंडित जसराज का नाम अब धरती पर ही नहीं आकाशगंगा में भी चमकेगा।
दरअसल, मंगल और बृहस्पति के बीच स्थित एक बहुत छोटे ग्रह का नाम पंडित जसराज के नाम पर रखा गया है। अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने 13 साल पहले इस ग्रह को खोजा था।
अंतर्राष्ट्रीय खगोलीय संघ (आईएयू) ने 11 नवंबर 2006 को खोजे गए इस ग्रह 2006 वीपी32 को संख्या-300128 के नाम से अभी तक जाना जाता था। अब यह मजह संयोग है या नियति कि पंडित जसराज की जन्म तारीख 28/01/30 है, जो इस सितारे के पहले रखे गए नाम की ठीक उल्टी है।
पंडित जसराज की बेटी दुर्गा जसराज ने बताया कि 23 सितंबर को आईएयू द्वारा प्रशस्ति पत्र देने के साथ इसका आधिकारिक रूप से एलान किया गया। इस सम्मान के साथ पद्म विभूषण से सम्मानित पंडित जसराज मोजार्ट, बीथोवेन और टेनोर लुसियानो पवारोटी जैसे अमर संगीतकारों की आकाशगंगा में शामिल होने वाले पहले भारतीय संगीतकार बन गए हैं।
पंडित जसराज ने अमेरिका से दिए अपने संदेश में कहा कि इस सम्मान को पाकर वस्तुतः ईश्वर की असीम कृपा का अनुभव हो रहा है। प्रशस्ति पत्र में कहा गया है कि संगीत मर्मज्ञ पंडित जसराज भारतीय शास्त्रीय संगीत के प्रतिपादक हैं। उन्होंने अपना जीवन संगीत को समर्पित कर दिया है। “पंडितजसराज” नामक इस लघु ग्रह को आईएयू की अधिकारिक वेबसाइट पर 300128 नंबर पर देखा जा सकता है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »