अब आया अनारक्षित टिकटों के लिए रेलवे का mobile app

नईदिल्‍ली। रेलवे ने अनारक्षित टिकटों की बुकिंग और इन्हें रद्द करने सहित अन्य सुविधाओं के साथ एक mobile app की शुरुआत की है । इससे टिकट बुकिंग और रद्द कराना आसान हो जाएगा।
रेलवे ने अनारक्षित टिकटों की बुकिंग और इन्हें रद्द करने सहित अन्य सुविधाओं के साथ एक mobile app की शुरुआत पर रेल मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि mobile app में सावधिक (सीजन) और प्लेटफॉर्म टिकटों के नवीनीकरण, आर-वॉलेट की बकाया राशि की जांच और लोड करने और यूजर प्रोफाइल मैनेजमेंट और बुकिंग हिस्ट्री की भी सुविधा है।

रेल सूचना प्रणाली केंद्र (सीआरआईएस) ने मोबाइल आधारित एप्लिकेशन ‘अटसनमोबाइल’ विकसित किया है। यूजर इस एप को गूगल प्ले स्टोर या विन्डोज स्टोर से निःशुल्क डाउनलोड कर सकते हैं। बयान में कहा गया है, सबसे पहले यात्री अपना मोबाइल नंबर, नाम, शहर, रेल की डिफ़ॉल्ट बुकिंग, श्रेणी, टिकट का प्रकार, यात्रियों की संख्या और बार-बार यात्रा करने के मार्गों का विवरण देकर अपना पंजीकरण करा सकते हैं।

पंजीकरण कराने पर यात्री का जीरो बैलेंस का रेल वॉलेट (आर-वॉलेट) स्वत: ही बन जाएगा। आर-वॉलेट बनाने के लिए कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा। आर-वॉलेट को किसी भी यूटीएस काउंटर पर या वेबसाइट पर उपलब्ध विकल्प के माध्यम से रीचार्ज किया जा सकता है। अग्रिम टिकट बुकिंग की अनुमति नहीं है। यानी, हमेशा वर्तमान तिथि में ही यात्रा की जाएगी। बयान के मुताबिक, यात्री टिकट का प्रिंट लिए बगैर भी यात्रा कर सकते हैं। टिकट जांच कर्मी द्वारा टिकट मांगने पर यात्री एप में ‘टिकट दिखाएं’ विकल्प का उपयोग कर टिकट दिखायेंगे।

mobile app को लेकर मुख्य बातें जान लीजिए

1. ‘अटसनमोबाइल’ एप्लिकेशन अनारक्षित टिकटों की बुकिंग और रद्द करने, सावधिक और प्लेटफॉर्म टिकटों के नवीनीकरण, आर-वॉलेट की बकाया राशि की जांच और लोड करने में सक्षम है। यह उपयोगकर्ता के वि‍वरण और बुकिंग की जानकारी कायम रखने में सहायक है।

2. बहुत आसान और नि:शुल्‍क ‘अटसनमोबाइल’ एप्लिकेशन एंड्रॉइड और विंडोज स्मार्ट फोन पर उपलब्ध है। उपयोगकर्ता इस ऐप को गूगल प्‍ले स्‍टोर या विन्‍डोज स्‍टोर से निःशुल्क डाउनलोड कर सकते हैं।

3. सबसे पहले यात्री अपना मोबाइल नंबर, नाम, शहर, रेल की डिफ़ॉल्ट बुकिंग, श्रेणी, टिकट का प्रकार, यात्रियों की संख्या और बार-बार यात्रा करने के मार्गों का विवरण देकर अपना पंजीकरण करा सकते हैं।

4. पंजीकरण कराने पर यात्री का जीरो बैलेंस का रेल वॉलेट (आर-वॉलेट) स्‍वत: ही बन जाएगा। आर-वॉलेट बनाने के लिए कोई अतिरिक्त शुल्‍क नहीं देना होगा।

5. आर-वॉलेट को किसी भी यूटीएस काउंटर पर या वेबसाइट https://www.utsonmobile.indianrail.gov.in पर उपलब्ध विकल्प के माध्यम से रिचार्ज किया जा सकता है।

6. मोबाइल का इंटरनेट कनेक्शन काम नहीं करने की स्थिति में टिकट बुकिंग नहीं हो सकेगी।

7 अग्रिम टिकट बुकिंग की अनुमति नहीं है अर्थात् हमेशा वर्तमान तिथि में ही यात्रा की जायेगी।

8. पेपरलेस टिकट: यात्री टिकट का प्रिंट लिए बगैर (हार्डकॉपी) भी यात्रा कर सकते हैं। टिकट जांच कर्मी द्वारा टिकट मांगने पर यात्री ऐप में ‘टिकट दिखाएं’ विकल्प का उपयोग कर टिकट दिखायेंगे।

9. पेपर टिकट: यात्री इस मोबाइल ऐप के माध्यम से टिकट बुक कर सकता है। टिकट बुक करने पर, यात्री को अन्य टिकट विवरणों के साथ बुकिंग आईडी मिल जाएगी। बुकिंग विवरण बुकिंग हिस्‍ट्री में भी उपलब्ध होंगे। बुकिंग आईडी एसएमएस के माध्यम से भी बताया जाएगा।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »