अब ‘विदेश दौरों’ पर भी SPG निगरानी में रहेंगे वीवीआईपी

नई दिल्‍ली।  SPG (स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप) सुरक्षा के नियमों को लेकर केंद्र सरकार सख्त हुई है, इस SPG कीीविशेष सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति को अपने विदेशी दौरों पर भी जवानों को साथ ले जाना होगा। न केवल पीएम मोदी, बल्कि अन्य शख्सियत भी, जिन्हें ये सुविधा प्राप्त है, उनके साथ एसपीजी के जवान भी विदेश दौरा करेंगे और उनकी सुरक्षा करेंगे।

पहले ऐसा नहीं होता था, लेकिन अब केंद्रीय गृह मंत्रालय सरकार नियम में बदलाव कर रही है। सरकार के इस फैसले को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और गांधी परिवार के अन्य सदस्यों के दौरों से जोड़ कर देखा जा रहा है।

देश में प्रधानमंत्री और पूर्व प्रधानमंत्रियों को एसपीजी सुरक्षा दी जाती रही है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को भी एसपीजी सुरक्षा दी जाती थी, लेकिन हाल ही में उनकी सुरक्षा थोड़ी कम करते हुए जेड प्लस श्रेणी में तब्दील कर दी गई।

वर्तमान में SPG सुरक्षा की सुविधा पीएम मोदी के अलावा गांधी परिवार को मिलती है। कांग्रेस की अंतरिम अक्ष्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस महसचिव प्रियंका गांधी को यह सुविधा दी गई है।

अभी तक SPG जवानों को विदेश नहीं ले जाता था गांधी परिवार

एसपीजी सुरक्षा के तहत गांधी परिवार अबतक देश में तो जवानों को साथ रखता था, लेकिन विदेश साथ नहीं ले जाता था। राहुल गांधी, सोनिया गांधी या प्रियंका गांधी जब भी विदेश दौरे पर जाते थे, तो अपने पहले पड़ाव तक ही एसपीजी सुरक्षा साथ ले जाते थे। पहले पड़ाव से जवानों को वापस भेज दिया जाता था। इस दौरान गांधी परिवार के सदस्य प्राइवेसी का हवाला देते थे।

केंद्रीय गृह मंत्रालय की सख्ती के बाद अब एसपीजी जवान हमेशा वीवीआईपी के साथ रहेंगे, ताकि उनकी जान को कभी कोई खतरा न हो। पीएम मोदी भी हमेशा एसपीजी सुरक्षा घेरे में रहते हैं। अब गांधी परिवार को भी एसपीजी जवानों को अपने साथ विदेश ले जाना होगा।

राहुल को लेकर खड़े होते रहे हैं सवाल!

बता दें कि महाराष्ट्र चुनाव से पहले राहुल गांधी विदेशी दौरे पर रवाना हो गए हैं, इस बात की चर्चाएं हैं कि वह बैंकॉक गए हैं या फिर कंबोडिया, लेकिन उनकी आधिकारिक लोकेशन की जानकारी नहीं है। भारतीय जनता पार्टी की ओर से कई बार इस पर सवाल उठाए जा चुके हैं कि राहुल गांधी अक्सर ऐसी विदेशी यात्राओं पर जाते हैं, जिसकी देश को जानकारी नहीं होती है।

-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *