इमरान को अब भारी पड़ रहा है पांच सीटों से चुनाव लड़ना

इस्लामाबाद। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) फिलहाल खुद को मुसीबत से निकालने के लिए देश की छोटी-छोटी पार्टियों और निर्दलीय उम्मीदवारों का समर्थन पाने के लिए जुटी हुई है ताकि जादुई आंकड़े तक पहुंच सके और इमरान खान पीएम बनें। मगर पार्टी की स्थिति इतनी कमजोर करने में इमरान खाद खुद भी जिम्मेदार हैं।
‘द न्यूज’ के मुताबिक पीटीआई को सरकार बनाने के लिए 136 सांसद चाहिए। पीटीआई ने 115 सीटों पर जीत हासिल की है। अगर पार्टी पीएमएल-क्यू और बलूचिस्तान आवामी पार्टी के साथ गठबंधन करती है तो उसके पास 124 सांसद हो जाएंगे।
दरअसल, चुनाव 272 सीटों के लिए होते हैं लेकिन 2 सीटों पर चुनाव रद्द होने की वजह से मतदान 270 सीटों के लिए हुए थे।
यह आंकड़ा बढ़कर 137 भी हो सकता है अगर पीटीआई किसी तरह MQM, GDA और निर्दलीयों से गठबंधन कर ले। लेकिन सबसे बड़ी बाधा पीटीआई अपने मुखिया इमरान खान की तरफ से झेल रही है, जो 5 सीटों से चुनाव लड़े थे और इन सब पर जीते। नियमों के मुताबिक अब इमरान खान को 4 सीटें छोड़नी पड़ेंगी। यानी पीटीआई की 115 सीटें अब घटकर 111 रह जाएंगी। दूसरी तरफ, MQM पाकिस्तान ने भी फिलहाल समर्थन देने को लेकर स्थिति साफ नहीं की है। ऐसे में पीटीआई के लिए सरकार बनाना मुश्किल होता जा रहा है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »