दिल्‍ली में अब वकील सड़क पर, अदालतों में काम ठप

नई दिल्‍ली। दिल्ली पुलिस के 11 घंटे के ‘सत्याग्रह’ के दूसरे दिन आज दिल्ली में वकील इंसाफ की मांग कर रहे हैं। दिल्ली की पांच जिला अदालतों में वकीलों ने कामकाज ठप कर दिया है। गेट बंद हैं, ऐसे में आम लोगों को काफी परेशानी हो रही है। खबर है कि वकील किसी को भी कोर्ट परिसर में जाने नहीं दे रहे हैं। रोहिणी कोर्ट में एक वकील ने बिल्डिंग की छत पर चढ़कर खुदकुशी करने की भी कोशिश की है। फिलहाल पटियाला हाउस कोर्ट, साकेत कोर्ट, रोहिणी कोर्ट, कड़कड़डूमा कोर्ट और तीस हजारी कोर्ट में वकील प्रदर्शन कर रहे हैं।
आपको बता दें कि तीस हजारी कोर्ट में हुई हिंसा को लेकर पहले पुलिस ने मंगलवार को प्रदर्शन किया था। कई वायरल विडियो में वकीलों द्वारा पुलिस की पिटाई से लोगों का समर्थन भी पुलिस को मिला है। ऐसे में वकील नाराज हैं। उनका कहना है कि उनकी गलत छवि पेश की जा रही है। अब वे इंसाफ की मांग करते हुए आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ एक्शन की मांग कर रहे हैं।
रोहिणी कोर्ट की बिल्डिंग पर चढ़ा वकील
आज रोहिणी कोर्ट परिसर में उस समय अफरातफरी मच गई जब एक वकील बिल्डिंग के ऊपर पहुंच गया। आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग करते हुए वकील खुदकुशी की कोशिश करने लगा। काफी देर तक यह ड्रामा चला। कुछ देर बाद उसे सुरक्षित उतार लिया गया। उधर, रोहिणी कोर्ट के बाहर भी एक वकील ने आत्मदाह की कोशिश की। पेट्रोल डालकर खुदकुशी की कोशिश करने वाले वकील ने कहा कि वह आत्मसम्मान की लड़ाई लड़ रहे हैं।
वकीलों और पुलिस के बीच दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में हुई झड़प के बाद हालात सामान्य होते नहीं दिख रहे हैं। आज वकीलों के सामने डिस्ट्रिक्ट जज राउंड पर निकले और उन्हें मनाने की भी कोशिश की। साकेत और रोहिणी कोर्ट के बाहर वकील प्रदर्शन कर पुलिस की मनमानी के खिलाफ न्याय की मांग कर रहे हैं।
साकेत-रोहिणी कोर्ट में वकीलों का प्रदर्शन
दिल्ली में कोर्ट परिसर के बाहर जमा हुए वकील दिल्ली पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे हैं। दिल्ली पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने वाले वकीलों का कहना है कि उनकी सुरक्षा और अधिकारों की रक्षा होनी चाहिए।
जज, बार काउंसिल की अपील भी नहीं आई कम
प्रदर्शनकारी पुलिसकर्मियों को मनाने की मंगलवार को पुलिस कमिश्नर की अपील काम नहीं आई। आज प्रदर्शन कर रहे वकीलों से काम पर लौटने की अपील बार काउंसिल ने की, जिसका असर नहीं दिख रहा है। ऐसी खबरें हैं कि पेशी के लिए पहुंचे लोगों की परेशानी और जारी गतिरोध को देखते हुए कई जज भी अपने स्तर पर वकीलों के प्रतिनिधियों से बात कर मामला शांत करने की कोशिश कर रहे हैं।
मंगलवार को पुलिस मुख्यालय के बाहर दिल्ली के पुलिसकर्मियों ने प्रदर्शन किया था जबकि आज वकीलों ने हड़ताल का ऐलान कर दिया है। एक प्रदर्शनकारी वकील ने एक टीवी चैनल से कहा, ‘आप किसी भी आम आदमी से पुलिस के बारे में पूछ लीजिए। सबका कहना है कि दिल्ली पुलिस मनमानी करती है। कितने पुलिस वाले अपनी ड्यूटी करते हैं? पुलिस के दबाव में वकीलों पर अत्याचार नहीं होना चाहिए।’
पुलिस कमिश्नर को किरण बेदी ने दी सीख
उधर, वकीलों के हमले के खिलाफ दिल्ली पुलिस के प्रदर्शन पर पुडुचेरी की उपराज्यपाल और पूर्व आईपीएस अफसर किरण बेदी ने पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक को नसीहत दी है। उन्होंने कहा कि जब पुलिसकर्मी ईमानदारी से अपनी ड्यूटी करते हैं तो उन्हें उनके वरिष्ठों के द्वारा संरक्षण मिलना चाहिए।
दरअसल, मंगलवार को जब पुलिसकर्मियों को मनाने दिल्ली पुलिस के कमिश्नर अमूल्य पटनायक सामने आए थे तो वह स्पष्ट तौर पर पुलिसवालों के साथ नहीं दिखे। दिल्ली पुलिस के कर्मचारी अपने टॉप अधिकारी का समर्थन न मिलने और उनके रवैये से ज्यादा नाराज थे।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *