अब कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने भी कर डाली हिंदू धर्म और हिंदुत्व की व्‍याख्‍या

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने राहुल गांधी के हिंदू और हिंदुत्व में फ़र्क वाले बयान पर कहा कि ‘राहुल गांधी ने हाल में कहा कि हिंदू धर्म और हिंदुत्व को लेकर अंतर की बात कही थी लेकिन मैं उसमें कुछ और बातें जोड़ना चाहता हूं.’
मणिशंकर अय्यर ने अपने एक संबोधन में कहा कि हाल ही में राहुल गांधी ने कहा कि ‘हिंदू धर्म और हिंदुत्व में अंतर है. तो मैं उसके साथ ये जोड़ना चाहता हूं कि अंतर ये है कि हम जो हिंदू धर्म पर भरोसा करते हैं, हम सौ फ़ीसदी भारतीय हैं. हम सारे जो इस देश के बाशिंदें हैं उन्हें भारतीय समझते हैं लेकिन जो चंद लोग हमारे बीच में हैं और जो आज के दिन सत्ता में हैं, वे यह कहते हैं कि अस्सी फ़ीसदी भारतीय जो कि हिंदू धर्म को मानते हैं वही असली भारतीय हैं तथा जो बाकी लोग जो हैं वे ग़ैर-भारतीय हैं.’
मणिशंकर अय्यर ने कहा कि वे लोग कहते हैं कि ऐसे लोग हमारे देश में मेहमान बनकर रह रहे हैं और जब भी हम चाहें हम उनको इस देश से निकाल देंगे.
उन्होंने आगे कहा कि भारत की जो विविधता है उसे जवाहर लाल नेहरू से अधिक किसी ने नहीं समझा. उन्हें पता था कि भारत में अनेक भाषाएं हैं, रंग के लोग हैं, नस्ल हैं, बोलिया हैं, साहित्य हैं, और गीत हैं और अनेक किस्म की मौसिकी है.
दरअसल, कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की किताब के प्रकाशित होने के बाद से ही हिंदू और हिंदुत्व पर बहस छिड़ गई है.
इस संबंध में राहुल गांधी ने महाराष्ट्र में कार्यकर्ताओं को वर्चुअली संबोधित करते हुए कहा, “हिंदू धर्म और हिंदुत्व में फर्क़ है. अगर फर्क़ नहीं होता तो नाम एक होता. हिंदू को हिंदुत्व की ज़रूरत नहीं होती?”
उन्होंने आगे कहा, “क्या हिंदू धर्म किसी सिख या मुस्लिम को मारने का नाम है? लेकिन हिंदुत्व है. क्या हिंदू धर्म अख़लाक को मारने के बारे में है? किस किताब में ये लिखा है? मैंने उपनिषद पढ़ा है, उसमें नहीं लिखा. किस हिंदू धर्म की किताब में लिखा है कि किसी बेगुनाह को मार सकते हैं? मैंने नहीं पढ़ा है लेकिन हिंदुत्व में मैं इसे देख सकता हूँ.”
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *