अब ट्रंप और ओबामा की तस्‍वीरों के बीच होने लगी तुलना

वॉशिंगटन। सीरिया के सुदूर एक गांव में इस्लामिक स्टेट के सरगना अबू बकर-अल बगदादी को मारे गिराने के बाद सामने आई डोनल्ड ट्रंप की तस्वीर की तुलना लादेन को ढेर करने के मिशन के दौरान से की जा रही है। आतंकियों के खात्मे का लाइव टेलिकास्ट देखते हुए सोशल मीडिया पर अमेरिका समेत दुनिया भर में ट्रंप और ओबामा की वे तस्वीरें शेयर हो रही हैं।
इन तस्वीरों के जरिए लोग दोनों राष्ट्रपतियों के अलग-अलग स्टाइल की भी चर्चा कर रहे हैं। व्‍हाइट हाउस ने रविवार को प्रेसीडेंट डोनल्ड ट्रंप की तस्वीर जारी की थी, जिसमें वह नेशनल सिक्योरिटी से जुड़े 5 सीनियर अफसरों के साथ मिलकर बगदादी को ढेर करने की लाइव स्ट्रीमिंग देख रहे थे। इस तस्वीर में ट्रंप के साथ 5 अन्य अधिकारी डार्क सूट या मिलिट्री यूनिफॉर्म में बैठे दिखते हैं। सभी के बीच में ट्रंप बैठे दिखते हैं। इसी तस्वीर की तुलना 2011 में लादेन को मारे जाने के अभियान के दौरान बराक ओबामा के फोटो से की जा रही है।
एक कोने में बैठे थे बराक ओबामा

जब लादेन मारा गया था, तब इस तरह एक कोने में चुपचाप बैठे थे बराक ओबामा
जब लादेन मारा गया था, तब इस तरह एक कोने में चुपचाप बैठे थे बराक ओबामा

इस मिशन के दौरान ट्रंप जहां बीचोंबीच बैठे थे, वहीं बराक ओबामा एक कोने में बैठे नजर आए थे और चिंतित दिख रहे थे। कहा जा रहा है कि ओबामा और उनकी टीम के चेहरों पर उत्सुकता थी लेकिन ट्रंप भावहीन बैठे नजर आए। ओबामा के साथ बैठी टीम में 13 लोग थे। पोलो शर्त और लाइट कोट पहने ओबामा मेन चेयर पर नहीं बैठे थे बल्कि साइड में थे।
तब बेचैन दिख रही थीं हिलरी क्लिंटन, चेहरे पर रख लिया था हाथ
उसी रूम में हिलरी क्लिंटन भी मौजूद थीं और तस्वीर में वह सबसे ज्यादा परेशान दिख रही थीं। उनके चेहरे से उत्सुकता और बेचैनी का मिला-जुला भाव देखने को मिल रहा था और उन्होंने अपने मुंह पर हाथ रख लिया था।
फॉर्म नजर आए ट्रंप, कम ही अफसरों को किया शामिल
दूसरी तरफ ट्रंप की तस्वीर के बारे में कहा जा रहा है कि वह सेंटर में बैठे थे और बेहद फॉर्मल नजर आ रहे थे। उनका बैठने का स्टाइल जता रहा था कि वह किस तरह से प्रेजिडेंट के पद को फील करते हैं। इसके अलावा सिर्फ 5 अधिकारियों की ही मौजूदगी से स्पष्ट था कि वह अपनी योजनाओं में ज्यादा लोगों को शामिल नहीं करते।
ट्रंप ने बताया, लादेन को मार गिराने से बड़ा था यह ऑपरेशन
एक तरफ लोग दोनों मिशनों को लेकर ट्रंप और ओबामा की तुलना कर रहे हैं। दूसरी तरफ राष्ट्रपति ट्रंप ने बगदादी के ढेर होने की घोषणा करते हुए खुद ही रविवार को लादेन को मार गिराने के मिशन से इसकी तुलना की थी। उन्होंने कहा था कि यह उससे बड़ा ऑपरेशन था। उन्होंने कहा, ‘ओसामा बिन लादेन बहुत बड़ा आतंकवादी था लेकिन लादेन वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमले से बड़ा आतंकवादी बना था। वहीं इस व्यक्ति ने पूरे क्षेत्र पर कब्जा करके एक देश बना लिया था जिसे वह ‘खिलाफत’ कहता था और वह यह दोबारा करने का प्रयास कर रहा था।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *