वसूली के लिए टाटा, टेलीनॉर और रिलायंस जियो सहित 5 telecom कंपनियों को दूरसंचार विभाग भेजेगा नोटिस

नई दिल्ली। सीएजी की रिपोर्ट के बाद वसूली के लिए टाटा, टेलीनॉर और रिलायंस जियो सहित 5 telecom कंपनियों को दूरसंचार विभाग अब नोटिस भेजेगा. सीएजी ने इन कंपनियों द्वारा अपनी आय को कम कर दिखाने का खुलासा किया था.
नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक द्वारा अपनी आय को कम कर दिखाने का खुलासा किए जाने के बाद दूरसंचार विभाग 2,578 करोड़ रुपये की वसूली के लिए टाटा, टेलीनॉर और रिलायंस जियो सहित 5 टेलीकॉम कंपनियों को नोटिस भेजेगा.

दूरसंचार विभाग टाटा टेलीसर्विसेज, टेलीनॉर और रिलायंस जियो सहित पांच telecom कंपनियों को नोटिस जारी करेगा.

इन कंपनियों से विभाग को 2,578 करोड़ रुपये की वसूली करनी है. नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) ने इन कंपनियों द्वारा अपनी आय को कम कर दिखाने का खुलासा किया था. एक आधिकारिक सूत्र ने कहा, ‘‘सीएजी ने इस महीने अपनी रिपोर्ट में इन कंपनियों द्वारा अपनी आमदनी को कम कर दिखाने का खुलासा किया है.

इसी के मद्देनजर दूरसंचार विभाग इन telecom कंपनियों से 2,578 करोड़ रुपये की वसूली के लिए नोटिस जारी करेगा.’’ सीएजी की 19 दिसंबर को संसद में पेश रिपोर्ट के अनुसार टाटा टेलीसर्विसेज, टेलीनॉर, वीडियोकॉन टेलीकाम, क्याडरेंट (वीडियोकॉन समूह की कंपनी) और रिलायंस जियो ने अपनी आय को 14,800 करोड़ रुपये कम कर दिखाया है जिससे विभाग को 2,578 करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान हुआ.

सीएजी की रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार को इन कंपनियों ने लाइसेंस शुल्क में 1,015.17 करोड़ रुपये की कम राशि अदा की. इसी तरह स्पेक्ट्रम इस्तेमाल शुल्क के रूप में 511.53 करोड़ रुपये का कम भुगतान किया गया. इसके अलावा 1,052 करोड़ रुपये भुगतान में विलंब का ब्याज है.

सरकार को टाटा टेलीसर्विसेज से 1,893.6 करोड़ रुपये, टेलीनॉर से 603.75 करोड़ रुपये, वीडियोकॉन से 48.08 करोड़ रुपये, क्वाडरेंट से 26.62 करोड़ रुपये तथा जियो से 6.78 करोड़ रुपये वसूल करने हैं. सूत्र ने कहा कि इन telecom कंपनियों को जनवरी में नोटिस भेजे जा सकते हैं.
-एजेंसी