आपत्तिजनक लिरिक्स के लिए यो यो हनी सिंह को नोटिस

चंडीगढ़। बॉलिवुड के फेमस सिंगर यो यो हनी सिंह एक बार फिर कॉन्ट्रोवर्सी में घिरते नजर आ रहे हैं। कॉन्ट्रोवर्सी की वजह कुछ और नहीं बल्कि उनके ‘मखना’ गाने की लिरिक्स है, जो पिछले साल दिसम्बर में उन्होंने रिलीज़ किया था।
बता दें कि यो यो हनी सिंह के इस गाने (मखना) को लेकर पंजाब राज्य महिला आयोग ने अपनी नाराजगी जाहिर की है। इस मामले में राज्य महिला आयोग की चेयरपर्सन मनीषा गुलाटी ने इस मामले में कार्यवाही करते हुए एक चिट्ठी लिखी है। बता दें कि मनीषा ने पंजाब के गृह सचिव, डीजीपी और आईजी क्राइम को चिट्ठी लिखकर सिंगर के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है। मनीषा गुलाटी ने ‘मखना’ सॉन्ग में महिलाओं के खिलाफ इस्तेमाल की गई पंक्तियों पर आपत्ति जताई है, जिसमें ‘मैं हूं वुमनाइज़र’ और ‘सिलिकॉन वाली लड़कियों का मैं पकड़ता नहीं’ जैसे आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया गया है। बताया जा रहा है कि राज्य महिला आयोग की ओर से इस मामले को लेकर हनी सिंह को नोटिस भेजा गया है।
महिला आयोग ने इस मामले में 12 जुलाई तक पुलिस से स्टेटस रिपोर्ट पेश करने की बात भी कही है। अपने चिट्ठी में उन्होंने लिखा है, ‘इस मामले में पुलिस द्वारा लीगल ऐक्शन और जांच शुरू किए जाने की जरूरत है क्योंकि इसे टी-सीरीज के चेयरमैन भूषण कुमार और सिंगर हनी सिंह और नेहा कक्कड़ ने मिलकर तैयार किया है, जिसमें महिलाओं के खिलाफ अश्लील भाषा का इस्तेमाल किया गया है।’
गुलाटी ने कहा कि यह गाना सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ है, जिसका वीडियो भी आपत्तिजनक है। उन्होंने कहा कि इस मामले को सीरियसली लेते हुए उन्होंने पुलिस से सिंह और कुमार के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की बात कही है। यहां तक कि उन्होंने इस सॉन्ग को बैन किए जाने के साथ-साथ सेंसर बोर्ड के खिलाफ भी आपत्ति जताई है। इस मामले में गुलाटी स्टेट गवर्नमेंट अधिकारियों से मुलाकात करने वाली हैं ताकि कम से इसे पंजाब में बैन किया जा सके।
हालांकि यहां बता दें कि यह पहली बार नहीं जब हनी सिंह अपने किसी गाने को लेकर विवादों में घिरे हैं बल्कि इससे पहले भी वह अपने गानों के आपत्तिजनक लिरिक्स को लेकर विवादों में घिर चुके हैं। इससे पहले साल 2013 में सॉन्ग ‘मैं बलात्कारी’ को लेकर भी कुछ ऐसा ही विवाद सामने आया था। हालांकि, उनका कहा था कि यह गाना उन्होंने नहीं गाया है और लोगों को कन्फ्यूज़ करने के लिए उनके नाम का इस्तेमाल किया गया है। हनी सिंह ने यह बात पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में दायर ऐफिडेविट में कही थी।
रिलीज़ करने से पहले गाना पहुंचे सेंसर बोर्ड के पास
गानों को लेकर अपने पुराने मामले पर हनी सिंह ने कहा था कि वह भी इस बात का समर्थन करते हैं कि जब भी कोई गीत जनता के बीच पहुंचता है तो उसका निरीक्षण करने के लिए इसे पहले सेंसर बोर्ड के पास भेजा जाना चाहिए। उन्होंने कहा था कि अच्छा यही होगा कि गीतों को स्क्रीन करने से पहले किसी कमेटी या सेंसर बोर्ड जैसे प्राधिकरण के पास भेजा जाए।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *