बदलाव के बाद भी राजस्थान में ‘पद्मावती’ को रिलीज की इजाजत नहीं

जयपुर। संजय लीला भंसाली के महत्वाकांक्षी प्रॉजेक्ट फिल्म पद्मावत को भले ही सेंसर बोर्ड ने कुछ बदलावों के साथ पास कर दिया हो लेकिन राजस्थान में फिल्म के लिए रास्ते अब भी नहीं खुले हैं।
राज्य के गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने साफ किया है कि फिल्म पद्मावत राजस्थान में रिलीज नहीं की जाएगी।
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने आदेश दिया था कि फिल्म को राज्य में तब तक रिलीज न किया जाए, जब तक इसमें आवश्यक बदलाव न कर दिए जाएं। उन्होंने कहा था कि सरकार चाहती है कि फिल्म के रिलीज होने से किसी समुदाय की भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचनी चाहिए। राजस्थान के गृहमंत्री ने बताया, ‘मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के पिछले आदेश के अनुपालन में फिल्म पद्मावत को राज्य में नहीं रिलीज किया जाएगा।’
हलांकि, केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सेंसर बोर्ड) ने फिल्म के नाम सहित कुछ बदलाव के साथ फिल्म की रिलीज को हरी झंडी दे दी है। इसके बावजूद राज्य की वसुंधरा राजे सरकार ने फिल्म को रिलीज करने की इजाजत नहीं दी है।
फिल्म के खिलाफ राजस्थान में राजपूत समाज के संगठन करणी सेना ने मोर्चा खोल रखा है। करणी सेना के अध्यक्ष लोकेंद्र सिंह कालवी ने फिल्म की स्टारकास्ट और डायरेक्टर संजय लीला भंसाली को चेतावनी भी दी थी। फिल्म को राजस्थान सहित कई अन्य सरकारों ने भी रिलीज की इजाजत नहीं दी थी।
सेंसर बोर्ड के चेयरमैन प्रसून जोशी ने एक इंटरव्यू में साफ किया था कि फिल्म को पांच बदलावों के साथ रिलीज करने की मंजूरी दी गई है। पद्मावती नाम पर विवाद के बाद अब 25 जनवरी को संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत (बदला हुआ नाम) रिलीज होने जा रही है।
-एजेंसी