नॉरविक कलाकार ने कोरोना काल के लॉकडाउन को बोला शुक्रिया

नॉरविक के एक कलाकार Samuel Thomas का कहना है कि कोरोना वायरस लॉकडाउन ने उन्हें, “अपनी रफ़्तार कम करना और छोटी-छोटी चीज़ों का आनंद लेना सिखाया है.”
Samuel Thomas चूंकि प्रदर्शनी का आयोजन नहीं कर पा रहे हैं इसलिए वो सोशल मीडिया पर अपनी पेंटिंग शेयर कर रहे हैं.
33 साल के सैमुअल थॉमस को इस महामारी के दौरान गांव वाले इलाक़ों में टहलने या फिर साइकिल चलाने की प्रेरणा मिली है.
वो कहते हैं, “हमारे जीवन में चारों तरफ़ खुशी बिखरी पड़ी है, बस ज़रूरत है उसे समेटने की.”
थॉमस बताते हैं कि लॉकडाउन ने उनके कामकाजी ज़िंदगी पर कोई असर नहीं डाला है.
वो कहते हैं, “मैंने हमेशा अपने घर के स्टूडियो से अकेले में समय बिताते हुए काम किया है.”
उनका कहना है कि वो अब भी मानते हैं कि कोरोना वायरस महामारी के दौरान भी कला ने अपनी प्रासंगिकता नहीं खोई है.
सैमुअल 12 साल से पेंटिंग कर रहे हैं. वो नई पीढ़ी के लोगों के लिए उत्तरी नॉरफ़ॉक को नए और रोमांचकारी तरीक़े से पेश करना चाहते हैं.
उनका कहना है कि देश के आकर्षण और ख़ूबसूरती को वो दिखाना चाहते थे.
उन्होंने बताया कि, “लॉकडाउन ने मेरी इस चाहत को और बढ़ा दिया क्योंकि इसने मुझे छोटी-छोटी चीज़ों को प्रशंसा की नज़र से देखना सिखाया.”
वो कहते हैं, “कला लोगों को यह सिखाती है कि जीवन आगे अच्छा होगा, हमेशा इस बात की एक उम्मीद रहती है.”
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *