उत्‍तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया की सीमा से लगे संपर्क कार्यालय को उड़ाया

सोल। उत्‍तर कोरिया के दक्षिण कोरिया की सीमा पर सेना भेजने की धमकी के बाद कुछ ही देर बाद केसोंग में जोरदार धमाका हुआ है और धुआं निकलता दिखाई दिया है। माना जा रहा है कि उत्‍तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया की सीमा से लगे इस संयुक्‍त औद्योगिक कॉम्‍प्‍लेक्‍स में बने संपर्क कार्यालय को विस्‍फोट करके उड़ा दिया है। इस घटना के बाद उत्‍तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच तनाव काफी गहरा गया है।
इससे पहले उत्‍तर कोरिया की सेना ने चेतावनी दी थी कि वह दक्षिण कोरिया के साथ लगती सीमा पर स्थित विसैन्‍यीकृत इलाके में सेना भेजने के लिए तैयार है।
बताया रहा है कि सीमा पर उत्‍तर कोरियाई विद्रोहियों के आलोचना वाले गुब्‍बारे उड़ाने से नाराज उत्‍तर कोरिया की सेना ने यह धमकी दी है। उत्‍तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन की बहन क‍िम यो जोंग ने दक्षिण कोरिया के खिलाफ सैन्‍य कार्यवाही की धमकी दी थी।
किम यो ने खराब होते रिश्‍तों और सीमा पर उत्‍तर कोरिया विरोधी गुब्‍बारों को रोकने में असमर्थ रहने के लिए भी दक्षिण कोरिया पर हमला बोला था। उन्‍होंने कहा था कि दक्षिण कोरिया जल्‍द ही सीमा पर बने बेकार संपर्क कार्यालय के बंद होने का गवाह बनेगा। तानाशाह की बेहद शक्तिशाली बहन ने कहा कि वह नॉर्थ कोरिया के सैन्‍य नेताओं के ऊपर यह छोड़ती हैं कि वे क्‍या जवाबी कार्रवाई दक्षिण कोरिया के खिलाफ करते हैं।
‘एक्‍शन प्‍लान’ का अध्‍ययन कर रही उत्‍तर कोरियाई सेना
किम यो जोंग के इस बयान के बाद उत्‍तर कोरिया की सेना ने कहा है कि वह दक्षिण कोरिया की सीमा पर सेना भेजने और सैन्‍य निगरानी को बढ़ाने के लिए तैयार है। उत्‍तर कोरिया की सेना ने कहा कि वह एक ‘एक्‍शन प्‍लान’ का अध्‍ययन कर रही है ताकि सैनिकों को विसैन्‍यीकृत इलाके में भेजा जा सके। वर्ष 1950 के दशक में दोनों देशों के बीच युद्ध के बाद इस इलाके को विसैन्‍यीकृत घोषित कर दिया गया था।
इस बीच दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि वह ताजा धमकी के बारे में अमेरिका के साथ चर्चा कर रहा है और उत्‍तर कोरिया के सैन्‍य कदमों पर नजर बनाए हुए है। इससे पहले किम यो जोंग ने कहा था, ‘सुप्रीम लीडर, हमारी पार्टी और देश की ओर से दी गई शक्तियों का इस्‍तेमाल करते हुए मैं हथियारों के विभाग के प्रभारी को यह निर्देश देती हूं कि वे अगली कार्यवाही के रूप में शत्रु के खिलाफ जोरदार कार्यवाही करें।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *