मेडिसिन के क्षेत्र में नोबल पुरस्‍कार संयुक्‍त रूप से 3 वैज्ञानिकों के नाम

स्‍टॉकहोम। स्‍वीडन के स्‍टॉक होम शहर में मेडिसिन के क्षेत्र में नोबल पुरस्‍कार की घोषणा कर दी गई है। इस साल का नोबल पुरस्‍कार हार्वे अल्‍टर (Harvey Alter), माइकल होउगटन (Michael Houghton) और चार्ल्‍स राइस (Charles Rice) को दिया गया है। इन वैज्ञानिकों को हेपटाइटिस सी वायरस की खोज के लिए दिया गया है। इन वैज्ञानिकों को करीब 11 लाख 20 हजार डॉलर का इनाम दिया गया है।
नोबल पुरस्‍कार देने वाली संस्‍था ने कहा कि इस साल यह पुरस्‍कार खून से पैदा होने वाले हेपटाइटिस से लड़ाई में योगदान देने के लिए तीनों वैज्ञानिकों को द‍िया गया है। संस्‍था ने कहा कि इस हेपटाइटिस से दुनियाभर में बड़ी संख्‍या में लोगों को सिरोसिस और लीवर कैंसर होता है। तीनों ही वैज्ञानिकों ने एक नोवल वायरस की खोज में मूलभूत खोज की जिससे हेपटाइटिस सी की पहचान हो सकी।
यह धनराशि तीनों को समान रूप से वितरित की जाएगी। इन पुरस्‍कारों की घोषणा हर साल की तरह से इस बार भी स्‍वीडन के स्‍टॉकहोम शहर में की गई। इसी हफ्ते अन्‍य नोबल पुरस्‍कारों की घोषणा की जाएगी। माइकल होउगटन यूनिवर्सिटी ऑफ अल्‍बार्टा और चार्ल्‍स राइस रॉकफेलर यूवर्सिटी के हैं।
नोबल पुरस्‍कार देने वाली संस्‍था के मुताबिक इसी हफ्ते फ‍िजिक्‍स, केमिस्ट्री, साहित्‍य और शांति के क्षेत्र में नोबल पुरस्‍कारों की घोषणा की जाएगी। वहीं अर्थशास्‍त्र के क्षेत्र में नोबल पुरस्‍कारों की घोषणा अगले सोमवार को की जाएगी। बता दें कि इस बार शांति के नोबल पुरस्‍कारों की दौड़ में अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप भी हैं। उन्‍हें इजरायल और यूएई के बीच शांति डील कराने के लिए नामित किया गया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *