बहुमत किसी के पास नहीं, गवर्नर रूल लागू करना ही होगा: उमर अब्दुल्ला

जम्मू-कश्मीर में मुफ्ती सरकार गिरने के बाद राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने राज्यपाल एनएन वोहरा से मुलाकात की। उमर ने कहा, ‘मैंने गवर्नर से मुलाकात की। मैंने उन्हें बताया कि न तो हमें 2014 में मैंडेट मिला और न ही अब हमारे पास मैंडेट है। न तो किसी ने हमें अप्रोच किया और न ही हमने किसी को अप्रोच किया है।’
उन्होंने बताया कि अभी किसी पार्टी के पास बहुमत नहीं है तो उन्हें गवर्नर रूल लागू करना ही होगा। मैंने अपनी पार्टी की तरफ से गवर्नर को भरोसा दिलाया है कि हम किसी भी स्थिति में उनका समर्थन करेंगे, लेकिन साथ ही गुजारिश भी की कि स्टेट में ज्यादा समय तक राज्यपाल शासन न हो, लोगों को उनके द्वारा चुनी गई सरकार के साथ आगे बढ़ने का मौका मिलना चाहिए।
जम्मू-कश्मीर में बीजेपी के सरकार से समर्थन वापस लेने के बाद राज्य की सीएम महबूबा मुफ्ती ने राज्यपाल एनएन वोहरा को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। इसी दौरान बीजेपी ने भी राज्य में गवर्नर रूल लागू करने की मांग की है।
पीडीपी के प्रवक्ता रफी अहमद मीर ने कहा, ‘हमने सरकार चलाने के लिए भरपूर कोशिश की। यह तो होना ही था। यह हमारे लिए काफी चौंकाने वाला था क्योंकि हमें उनके फैसले के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। वहीं पीडीपी के एक अन्य नेता ने कहा कि हम शाम को 5 बजे विस्तार से बात करेंगे, तब तक के लिए महबूबा मुफ्ती ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »