रंगमंच से किसी का घर नहीं चल सकता: रजित कपूर

No one can run home from theater: Rajit Kapoor
रंगमंच से किसी का घर नहीं चल सकता: रजित कपूर

शुरुआती दौर से ही रंगमंच में सक्रिय अभिनेता रजित कपूर का कहना है कि रंगमंच उनके दिल के करीब है पर रंगमंच से किसी का घर नहीं चल सकता.
90 के दशक में टीवी के ब्योमकेश बक्शी बनकर लोगों को लुभाने वाले रजित कपूर अब बड़े पर्दे पर छोटे मोटे किरदार निभाते नज़र आते हैं.
बीबीसी से ख़ास रूबरू हुए रजित कपूर ने कहा, “रंगमंच से आपका गुज़ारा नहीं चल सकता. आपकी रसोई नहीं चल सकती. 25 साल पहले भी यही हाल था और आज भी यही हाल है कुछ नहीं बदला है.”
उनका कहना था, “पूरी दुनिया में रंगमंच में काम करने वालों की कमाई बेहद कम है इसलिए रंगमंच के साथ साथ कमाई का दूसरा ज़रिया भी होना ज़रूरी है.”
रजित कपूर ने करीबन 20 साल तक रंगमंच में कम कमाई के कारण कपड़ों के निर्यात आयात के कारोबार से अपना गुज़ारा चलाया.
रंगमंच की खस्ता हालत के बारे में अपनी राय देते हुए रजित आगे कहते हैं, “भारत में लोग रंगमंच का आदर नहीं करते और इससे जुड़े अभिनेताओं को नौटंकीबाज़ मानते हैं.”
रजित का ये भी मानना है कि भारत में लोग रंगमंच को हेय भावना से देखते हैं जबकि ये अभिनय का सबसे कठिन माध्यम है.
लेकिन वो ये भी मानते हैं कि अब रंगमंच के अभिनेताओं को हिंदी फ़िल्मों में जगह मिल रही है और टीवी और दूसरे माध्यम से अभिनेताओं का अच्छा गुज़ारा चल रहा है.
विद्या बालन की फ़िल्म ‘बेगम जान’ में सरकारी अधिकारी के किरदार में नज़र आएंगे रजित कपूर. यह फ़िल्म 14 अप्रैल को रिलीज़ होगी.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *