इमरान के शपथग्रहण समारोह में नहीं बुलाया जाएगा कोई विदेशी गणमान्य व्यक्ति

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की तरफ से बयान जारी करके कहा गया है कि प्रधानमंत्री पद के लिए आयोजित शपथग्रहण समारोह में किसी भी विदेशी नेता को हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित नहीं किया जाएगा।
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद की शपथ इमरान खान 11 अगस्त को लेने वाले हैं। हालांकि, उनके शपथ ग्रहण में विदेशी नेताओं को बुलाने और जाने को लेकर विवाद छिड़ गया है।
बता दें कि पूर्व भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों कपिलदेव, सुनील गावसकर तथा अभिनेता आमिर खान को शपथ ग्रहण में बुलाने की पुष्टि उनकी पार्टी पीटीआई की तरफ से हुई है। नवजोत सिंह सिद्धू ने तो पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री के शपथग्रहण समारोह में जाने के लिए अपनी सहमति भी दे दी है।
खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी 25 जुलाई को हुए चुनावों में सबसे बड़े दल के तौर पर उभरी है। 65 वर्षीय नेता के 11 अगस्त को शपथ ग्रहण करने की संभावना है। उनकी पार्टी ने पहले शपथ ग्रहण समारोह के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बॉलीवुड सुपरस्टार आमिर खान और कपिल देव, सुनील गावस्कर तथा नवजोत सिंह सिद्धू जैसे भारतीय क्रिकेटरों को आमंत्रित करने की योजना बनाई थी।
डॉन अखबार के मुताबिक ‘इस पर रुख बदलते हुए खान ने सादे समारोह में शपथ लेने का फैसला किया है।’ डॉन ने पीटीआई प्रवक्ता फवाद चौधरी के हवाले से कहा, ‘पीटीआई चेयरमैन ने सादगी से शपथ ग्रहण समारोह आयोजित करने का निर्देश दिया है। वह ऐवान-ए-सदर (राष्ट्रपति आवास) में सादे समारोह में शपथ लेंगे। यह फैसला किया गया है कि समारोह में किसी भी विदेशी गणमान्य व्यक्ति को आमंत्रित नहीं किया जाएगा। यह पूरी तरह से राष्ट्रीय समारोह होगा। केवल इमरान खान के कुछ करीबी दोस्तों को आमंत्रित किया जाएगा। समारोह में फिजूलखर्ची नहीं की जाएगी।’
इमरान खान को प्रधानमंत्री पद की शपथ राष्ट्रपति ममनून हुसैन दिलाएंगे। चुनावों में पीटीआई की जीत के बाद खान ने करदाताओं का पैसा बचाने के लिए सख्त कदम उठाने का इरादा जताया है। उन्होंने घोषणा की कि वह प्रधानमंत्री आवास में रहने नहीं जाएंगे और इमारत के भविष्य के बारे में अंतिम फैसला पार्टी करेगी।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »