भ्रष्टाचार पर कोई समझौता नहीं, इस मामले में कोई मेरा संबंधी नहीं: मोदी

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने भाजपा कार्यकारिणी की बैठक में आज कहा कि ‘भ्रष्टाचार पर कोई समझौता नहीं हो सकता है। जो कोई भी भ्रष्टाचार में पकड़ा जाएगा, वह बचेगा नहीं। मेरा कोई संबंधी नहीं है।’ उन्‍होंने इस दौरान विपक्ष और भ्रष्टाचार पर करारा प्रहार किया। पीएम ने अपने भाषण में कहा कि विपक्ष जब सत्ता में था तो सत्ता उनके लिए उपभोग की वस्तु थी। उन्होंने कहा कि विपक्ष को अपनी भूमिका कैसे निभानी है, वह उनको समझ में ही नहीं आ रहा है। पीएम ने साथ ही भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेन्स नीति अपनाने की बात कही।
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पीएम के भाषण के बारे में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये जानकारी दी। जेटली ने कहा कि पीएम मोदी आज शाम गरीब जनता के लिए कोई बड़ा ऐलान कर सकते हैं। बकौल जेटली पीएम ने कहा, ‘जब विपक्ष के पास कोई स्पष्ट आरोप नहीं होते हैं तो वे कड़वाहट वाली शब्दावली का इस्तेमाल करते हैं। कड़वाहट के शब्द विकल्प नहीं हो सकते हैं।’ पीएम ने भ्रष्टाचार पर भी वार किया।
जेटली ने कहा कि पीएम ने कार्यकारिणी में सरकार की कई योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी। पीएम ने कार्यकारिणी में कहा, ‘आधार में जो सेविंग्स हुई है, वह सेविंग्स पूरी तरह से व्यवस्था के लिए इस्तेमाल हो सकती है।’ उन्होंने कार्यकर्ताओं से सरकार के कार्यक्रमों के लिए जन भागीदारी बढ़ाने का आह्वान किया। पीएम ने कहा, ‘चुनाव लड़ना, चुनाव जीतने का काम तो चलता रहता है। चुनाव जीत से माध्यम से जो विश्वास और सत्ता मिली है, उसको एक साधन माने। लोकतंत्र में जन भागीदारी और बढ़ाई जाए। बदलने का काम राजनीतिक संगठन और बीजेपी कर सकती है।’
पीएम ने कहा, ‘राजनीतिक संगठन के नाते चुनाव उसका एक अंग है, लेकिन आप बीजेपी को इसके इतर ले जाएं। इसमें लोगों की भागीदारी बढ़ाएं ताकि देश को आगे ले जाया जा सके। जब तक राजनीतिक कार्यकर्ता जन भागीदारी में हिस्सा नहीं लेते, तब तक कोई कार्यक्रम आगे नहीं बढ़ सकता है।’
कार्यकारिणी की बैठक पीएम मोदी ने विशेष रूप से उत्तर प्रदेश का उल्लेख करते हुए कहा, ‘योजनाओं का नाम भी ऐसा होना चाहिए जिससे लोग जुड़ें। यूपी में टॉइलट बनाने की योजना थी और उसका नाम इज्जत घर दिया गया। यह ऐसी शब्दावली है जो लोगों को जोड़ती है। भाषा सरल हो, समझ में आने वाली हो तो ज्यादा सहजता से लोगों तक पहुंचती है। इन कार्यक्रमों को आगे बढ़ाने का प्रयास करें।’
-एजेंसी