मिट्टी घोटाले में नितीश सरकार ने दिए जांच के आदेश, लालू के मंत्री बेटे पर लग रहे हैं आरोप

Nitish government gave order of inquiry clay scandal, allegations are being seen on Laloo's minister son
मिट्टी घोटाले में नितीश सरकार ने दिए जांच के आदेश, लालू के मंत्री बेटे पर लग रहे हैं आरोप

पटना। मिट्टी घोटाले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के बेटे और नीतीश सरकार में मंत्री तेजप्रताप यादव की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। बीजेपी ने तेजप्रताप पर मिट्टी घोटाले का आरोप लगाया तो नीतीश सरकार ने अब जांच के आदेश दे दिए हैं। बिहार के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने इस मामले में जांच के आदेश जारी किए। राजनीतिक जानकार इस घटना को अहम बता रहे हैं। आशंका जताई जा रही है कि नीतीश सरकार के इस कदम से आरजेडी और जेडीयू के बीच कड़वाहट बढ़ सकती है। बता दें, हाल के दिनों में कई बार दोनों ही पार्टी के नेता एक-दूसरे के खिलाफ बयानबाजी कर चुके हैं।
बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से 90 लाख रुपये के कथित ‘मिट्टी खरीद घोटाले’ को लेकर वन और पर्यावरण मंत्री तेजप्रताप यादव को मंत्रिमंडल से बर्खास्त किए जाने की मांग की है। साथ ही उन्होंने इस कथित घोटाले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। सुशील ने आरोप लगाया कि संजय गांधी जैविक उद्यान में सौन्दर्यीकरण के नाम पर अनावश्यक 90 लाख रुपये की मिट्टी खरीद कर पगडंडी बनाने का काम बिना निविदा केवल कोटेशन के आधार पर पटना जिला के रुपसपुर के एमएस एंटरप्राइजेज के विरेन्द्र यादव को सौंप दिया गया।
उन्होंने तेजस्वी पर अपनी एक कंपनी के द्वारा पटना में निर्माणाधीन एक शॉपिंग मॅाल के दो अंडरग्राउंड फ्लोर की मिट्टी को अपने ही विभाग से बेच कर 90 लाख रुपये की कमाई करने का आरोप लगाते हुए पूछा कि क्या कोई मंत्री अपनी जमीन की मिट्टी को अपने ही विभाग में खरीद सकता है। उनका दावा है कि इस कंपनी में तेजस्वी निदेशक हैं। मोदी ने आरोप लगाया कि पिछले दो माह से रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक मिट्टी की ढुलाई की जा रही है जबकि रात में वन्य प्राणियों के उद्यान में कोई निर्माण कार्य या गतिविधि नहीं की जा सकती है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *