तीन दिन पहले सपा में शामिल हुई Nishad party ने छोड़ा अखिलेश का साथ

लखनऊ। तीन दिन पहले सपा में शामिल हुई Nishad party ने अखिलेश यादव का साथ छोड़ दिया है। अखिलेश  को बड़ा झटका देते हुए Nishad party के अध्यक्ष डॉ संजय निषाद ने शुक्रवार को घोषणा की है कि वह गठबंधन के साथ नहीं हैं। उन्होंने कहा कि वह स्वतंत्र रूप से चुनाव लड़ सकते हैं और अन्य विकल्प की भी तलाश कर सकते हैं।

संजय निषाद ने बताया कि अखिलेश यादव ने कहा था कि वह हमारी पार्टी के लिए सीटों की घोषणा करेंगे, लेकिन उन्होंने पोस्टर या किसी पत्र पर हमारा नाम तक नहीं रखा। इस बात से मेरी पार्टी के कार्यकर्ता परेशान थे। इसीलिए निषाद पार्टी ने गठबंधन से अलग होने का निर्णय लिया है।

26 मार्च को सपा ने सपा-बसपा व रालोद के गठबंधन में निषाद पार्टी और जनवादी पार्टी (सोशलिस्ट) को भी शामिल किया था। उस दौरान अखिलेश ने गठबंधन की बदौलत प्रदेश में गोरखपुर, फूलपुर व कैराना के उपचुनाव का इतिहास दोहराने का दावा किया था।

उप चुनाव में इसी दल के साथ गठबंधन कर अखिलेश यादव ने गोरखपुर की प्रतिष्ठापरक सीट भाजपा के हाथ से छीन ली थी। संजय निषाद के पुत्र प्रवीण निषाद को उप चुनाव में सपा से ही गोरखपुर से उम्मीदवार बनाया गया था। प्रवीण निषाद ने भाजपा के उपेंद्र शुक्ल को चुनाव हरा दिया। पूर्वी उत्तर प्रदेश से लेकर पश्चिम तक निषाद, बिंद, कश्यप जातियों की बहुलता को देखते हुए सपा ने इस दल से तालमेल किया था। हाल में गोरखपुर में भाजपा सरकार के खिलाफ प्रवीण निषाद ने प्रदर्शन भी किया था।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »