दिल्ली से 5 दिन को आए मथुरा आए Nirankari प्रचारक

मथुरा। संसार की सर्वोच्च सत्ता परमपिता परमात्मा है, जो अजर-अमर है, जिसका कोई आकार नहीं, निरंकार है। यह विचार दिल्ली से आए Nirankari प्रचारक संतश्री रोशन देहलवी ने यहां हाइवे स्थित संत निरंकारी सत्संग भवन पर आयोजित सत्संग में व्यक्त किए।

उन्होंने Nirankari सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज का संदेश देते हुए कहा कि पिता अगर कोई वस्तु नहीं लाकर देता तो क्या हम पिता बदल देते है, नहीं क्योंकि पिता एक ही होता है। ऐसे ही संसार का मालिक भी एक ही है अलग-अलग नहीं। हम परमात्मा को बदल नहीं सकते। पूरे ब्रह्माण्ड में निरंकार परमात्मा के समान कोई नहीं है।

निरंकारी प्रचारक ने सवाल करते हुए कहा कि क्या आपको पता है सर्वशक्तिमान सत्ता कौन है। किसके द्वारा सारी सृष्टि चल रही है। उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि सद्गुरु की कृपा से ही हमें पता चलता है कि सृष्टि का रचियता परमपिता परमात्मा है, जो संसार की सर्वोच्च सत्ता है।

संतश्री रोशन देहलवी ने कहा कि लोग परमात्मा को पाने के लिए अनेक यत्न एवं क्रियाओं द्वारा अज्ञानतावश स्वयं को कष्ट दे रहे हैं, वहीं निरंकारी सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज बिना किसी कर्मकांड के सहज में ही हर मानव को ब्रह्मज्ञान प्रदान कर परमात्मा का बोध करा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सद्गुरु से ब्रह्मज्ञान प्राप्त करने के साथ ही ब्रह्मज्ञान को धारण भी करें और ज्ञानमय होकर जीवन की यात्रा को सफल और सुखद बनाएं। ब्रह्मज्ञान आत्मिक आनंद और आत्मा के कल्याण के लिए होता है।

इस अवसर पर मथुरा की प्रथम प्रचारक मुखिया माता राम कौर के तप, त्याग, भक्ति और समर्पण को भी याद किया गया। अनेक वक्ताओं ने माता राम कौर से जुड़े संस्मरण सुनाए।

जोनल इंचार्ज श्री हरविंद्र कुमार अरोड़ा ने संत-भक्तों का भावपूर्ण स्वागत किया।

स्थानीय प्रवक्ता किशोर स्वर्ण ने बताया कि दिल्ली से पांच दिवसीय प्रचार यात्रा पर निकले निरंकारी प्रचारक संतश्री रोशन देहलवी जी की यात्रा में मथुरा, कोसीकलां, सादाबाद, कासगंज, अलीगढ़, खुर्जा, बुलन्दशहर आदि शहर शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *