निकिता मर्डर केस: महापंचायत के बाद बवाल, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

फरीदाबाद। हरियाणा के फरीदाबाद जिले के बल्लभगढ़ में छात्रा निकिता की हत्या मामले में रविवार को महापंचायत के बाद बवाल हो गया है। महापंचायत में आए लोगों ने आरोपियों को फांसी देने की मांग को लेकर हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान लोगों ने पुलिस पर जमकर पत्थर बरसाएं। इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज करके भीड़ को तितर-बितर किया।
जानकारी के मुताबिक बल्लभगढ़ में छात्रा निकिता की हत्या मामले में आरोपियों को फांसी देने की मांग को लेकर रविवार को 36 समुदायों के लोगों की ओर से एक ‘महापंचायत’ बुलाई गई। सूत्रों ने बताया कि बैठक के दौरान ही कुछ लोगों ने हंगामा शुरू किया। इस दौरान महापंचायत में से निकलकर कुछ लोगों ने सड़क जाम कर दिया। वहीं कुछ शरारती तत्वों ने भीड़ का फायदा उठाकर पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया।
पुलिस ने किया लाठी-चार्ज
महापंचायत के दौरान पथराव होने से मौके पर अफरातफरी मच गई। इस दौरान पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज भी किया। इसके बाद भीड़ ने आगजनी और पथराव भी किया। इसके बाद मौके पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात किया गया है।
‘बल्लभगढ़ की घटना की जितनी निंदा की जाए उतनी कम’
उधर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने रविवार को कहा कि बल्लभगढ़ की घटना की जितनी निंदा की जाए उतनी कम है। ये विषय लव जिहाद के साथ जोड़कर देखा जा रहा है। हम इसे केंद्र और राज्य स्तर पर बहुत गंभीरता से लिया जा रहा है। इस प्रकार की घटनाएं दोबारा न हों ये हमारी पूरी कोशिश हैं।
मामले में तीसरा आरोपी भी दबोचा
इससे पहले हरियाणा के फरीदाबाद जिले के बल्लभगढ़ में छात्रा निकिता की हत्या मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी। पुलिस ने इस मामले में तीसरे आऱोपी को भी गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी तौसीफ (Tausif) को वारदात में इस्‍तेमाल देशी कट्टा मुहैय्या कराने वाला अपराधी अजरु को छापेमारी के बाद नूंह ज़िले से गिरफ़्तार कर लिया था। इस मामले की जानकारी फरीदाबाद पुलिस ने ट्वीट कर साझा की है।
घटना का सामने आया था सीसीटीवी फुटेज
इस हत्याकांड का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया, जिसमें तौसीफ पहले तो निकिता के अपहरण का प्रयास करता नज़र आता है लेकिन कामयाबी नहीं मिलने पर उसे सिर में गोली मारकर वहां से सफेद रंग की गाड़ी से फरार हो जाता है। इस मामले में पुलिस ने गाड़ी और हत्या में इस्तेमाल हथियार बरामद कर लिया है।
तौसीफ के घरवालों ने 2018 में दबाव बनाकर वापस कराया था केस
तौसीफ और निकिता दोनों फरीदाबाद के एक स्‍कूल में साथ पड़े थे। निकिता 12वीं की बोर्ड टॉपर्स में थी और सिविल सविर्सिज एग्‍जाम की तैयारी कर रही थी। 2018 में स्‍कूल खत्‍म होने के बाद दोनों अलग-अलग कॉलेज में पढ़ने लगे। पुलिस के अनुसार उसी साल तौसीफ ने निकिता का अपहरण किया था। मामला दर्ज हुआ था लेकिन पंचायत के बाद वापस ले लिया गया। निकिता के परिवार का आरोप है कि उन पर तौसीफ के रिश्‍तेदारों ने दबाव बनाया था। नूंह में तौसीफ के परिवार का दबदबा है और निकिता के परिवार को भरोसा दिया गया था कि तौसीफ आगे कुछ नहीं करेगा।
किडनैप करके साथ ले जाना चाहता था आरोपी
निकिता हत्याकांड का मुख्य आरोपी तौसीफ उसका अपहरण कर अपने साथ ले जाना चाहता था। उसने जब मना किया और भागने लगी तो उसने उसे गोली मार दी। यह खुलासा आरोपी ने पुलिस की पूछताछ में किया है। उसने यह भी बताया कि अगर वह रास्ते में उनके हाथ नहीं आता तो पुलिस उसे कभी ढूंढ़ नहीं पाती। पुलिस दो दिन की पुलिस रिमांड पर लेकर उससे पूछताछ कर रही है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *