नवनियुक्त शिक्षक इस बार नहीं बैठ पाएंगे यूपी टीईटी परीक्षा में

UPTET 2018: नवनियुक्त शिक्षक इस बार यूपी टीईटी परीक्षा में नहीं बैठ पाएंगे।
दरअसल, 68500 भर्ती में चयनित शिक्षकों के दस्तावेज बीएसए कार्यालय में जमा है जबकि यूपी टीईटी में शामिल होने के लिए प्रशिक्षण योग्यता का मूल प्रमाण पत्र दिखाना होगा। चयनित प्राथमिक स्कूलों के शिक्षकों को उच्च प्राथमिक स्कूलों में प्रमोशन के टीईटी पास की योग्यता चाहिए इसलिए बड़ी तादाद में नवनियुक्त शिक्षकों ने टीईटी का फार्म भरा है।
उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी-टीईटी) 2018 18 नवंबर को 10 से 12.30 बजे तक (प्राथमिक) और 2.30 से 5 बजे तक (उच्च प्राथमिक) होगी। इस बार 17.80 लाख अभ्यर्थी परीक्षा दे रहे हैं।
ओवरराइटिंग कटिंग पर नहीं जंचेगी यूपीटीईटी की कॉपी
यूपीटीईटी की ओएमआर शीट पर ओवरराइटिंग या कटिंग करने पर कॉपी नहीं जंचेगी। ओएमआर शीट का मूल्यांकन स्कैनर से किया जाएगा। लिहाजा ओवरराइटिंग, कटिंग या एक से अधिक गोला काला करने, किसी गोले को पूरा काला नहीं करने, गोले पर कोई अन्य निशान बनाने पर या सफेदा लगाने पर मूल्यांकन नहीं होगा।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »