सूर्यग्रहण से आरंभ होगा New Year, जैमिनी और केदार योग में आगमन

New Year अर्थात् विक्रम संवत 2076 (परिधावी संवत्सर) के राजा शनि हैं, मंत्री सूर्य, दुर्गेश भी शनि हैं जबकि धनेश मंगल हैं

नई दिल्‍ली। New Year 2019 को लेकर हर किसी ने अपनी अपनी तैयारिां कर रखी हों परंतु हर बार की तरह इस बार भी New Year को लेकर ज्‍योतिषीय आंकलन शुरू हो गया है कि आखिर कैसा रहेगा यह नववर्ष हम सब के लिए, हमारे जीवन में बेहतरी आएगी कि नहीं, शिक्षा-करियर, खेती, स्वास्थ्य, राजनीति के मामले में कैसा रहेगा नव वर्ष। ज्योतिषियों द्वारा New Year को लेकर कई भवष्यिवाणियां की हैं…तो आप भी जानिए इन ज्योतिषियों का आंकलन कि कैसा रहेगा वर्ष 2019।

वर्ष 2019 के राजा हैं शनि, सूर्य मंत्री

ज्योतिषाचार्यों ने पंचागों के हवाले से बताया कि वर्ष 2019 व हिन्दू कैलेंडर के हिसाब से विक्रम संवत 2076 (परिधावी संवत्सर) के राजा शनि हैं जबकि मंत्री सूर्य। दुर्गेश भी शनि हैं जबकि धनेश मंगल हैं।

मंगल का विशेष संयोग बना है 2019 में

वर्ष2019 में मंगलवार का विशेष संयोग बन रहा है। नए वर्ष की शुरुआत मंगलवार से हो रही है। वहीं नए वर्ष का समापन भी मंगलवार को होगा।

जैमिनी और केदार योग में नए वर्ष का आगमन

ज्योतिषियों के अनुसार नव वर्ष की शुरुआत जैमिनी और केदार योग में हो रही है। शुक्र व चंद्रमा के एक साथ रहने से जैमिनी योग बना है जबकि सभी ग्रहों का चार स्थानों पर रहने से केदार योग का संयोग बन रहा है।

नए साल की शुरुआत सूर्यग्रहण से होगी

नए साल की शुरुआत सूर्य ग्रहण से हो रही है। 6 जनवरी को है पहला सूर्यग्रहण। दूसरा सूर्य ग्रहण 2 एवं 3 जुलाई के मध्य है। यह दोनों ही सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं पड़ेंगे। तीसरा सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर को लगेगा जो भारत में दिखेगा। नए साल में पहला चंद्र ग्रहण 21 जनवरी को लगेगा। दूसरा चंद्र ग्रहण 16 जुलाई एवं 17 जुलाई मध्यांतर में लगेगा यह भारत में भी दिखेगा।

नए वर्ष में हर क्षेत्र में बिहार की प्रगति होगी
ज्योतिषी युग के मुताबिक नये वर्ष में बिहार में सत्ता के भागीदारों के बीच वैचारिक मतभेद उभरेंगे। पर गुरु के सप्तम भाव में रहने से ये मतभेद सुलझ जाएंगे। वहीं रियल इस्टेट के बिजनेस में काफी उछाल आयेगा। लोकतांत्रिक प्रणालियों में सुधार होगा। बिहार में खनन(बालू) ,मनोरंजन(भोजपुरी सिनेमा) के क्षेत्र में काफी प्रगति होगी। बिहार के छवि और बेहतर होगी। हर क्षेत्र में बिहार के लिए बेहतर दिख रहा है।

नए वर्ष में कई ग्रह होंगे वक्री और मार्गी
ज्योतिषी कुमार के मुताबिक नए साल में गुरु 10 अप्रैल को वक्री होंगे और मार्गी होंगे 11 अगस्त को। इसी तरह शनि 30 अप्रैल को वक्री और मार्गी होंगे 18 सितंबर को l बुध 5 मार्च को वक्री होंगे। पूरे साल में बुध तीन बार वक्री होंगे और तीन बार मार्गी होंगे।

कई राशियों का होगा परिवर्तन
नए वर्ष में कई ग्रहों का राशि परिवर्तन होगा। शनि का राशि परिवर्तन 30 साल बाद धनु में होगा। शनि इससे पहले 18 दिसंबर 1987 को धनु राशि में थे अगली बार 8 दिसंबर 2046 को धनु राशि में आएंगे। बृहस्पति ग्रह वृश्चिक राशि से धनु में 29 मार्च को प्रवेश करेंगे। राहु का गोचर परिवर्तन कर्क से मिथुन राशि में 7 मार्च को होगा और केतु धनु में प्रवेश करेंगे। शनि के 1 मई 2019 तक मार्गी रहने से एवं सीधी चाल रहने से कई राशियों को फायदा मिलेगा। गुरु का स्थान परिवर्तन होने से देश की स्थिति काफी मजबूत होगी।

विभिन्न राशियों के लिए नया वर्ष-

मेष: आर्थिक उन्नति,पारिवारिक व सामाजिक स्थिति मध्यम

वृष: लाभप्रद स्थिति,भाग्य साथ देगा

मिथुन: मांगलिक कार्य, अनुकूल स्थिति

कर्क: आर्थिक राहत, भूमि-वाहन योग

सिंह: प्रतिष्ठा में वृद्धि, संतान पक्ष को सफलता

कन्या: मांगलिक कार्य
तुला: धार्मिक-सामाजिक सक्रियता बढ़ेगी

वृश्चिक: व्यापार विस्तार,लक्ष्य प्राप्ति

धनु: स्थान परिवर्तन, अनुकूल स्थिति

मकर: आर्थिक उन्नति, संतानप्राप्ति

कुंभ: मनोरथ पूरे होंगे. प्रमोशन

मीन: भाग्य का पूरा साथ, संतान प्राप्ति

-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »