MCD की नई पॉलिसी, अब दिल्‍ली में नहीं रहेंगे क्रॉस जेंडर मसाज सेंटर

नई दिल्‍ली। मसाज सेंटरों के लिए MCD नई पॉलिसी भी तैयार करेगी, जिसमें क्रॉस जेंडर मसाज की अनुमति नहीं होगी। मसाज सेंटर चलाने वाले लोगों को रिसेप्शन पर सीसीटीवी कैमरे भी लगाने होंगे, ताकि जो लोग इसमें आ रहे हैं उन पर निगरानी रखी जा सके।
स्पा और मसाज सेंटरों में आपत्तिजनक गतिविधियों की शिकायतों के बाद अब राजधानी में इन पर शिकंजा कसना शुरू हो गया है। बुराड़ी, नवादा और ईस्ट दिल्ली के मधु विहार स्थित स्पा/मसाज सेंटर पर महिला आयोग के छापे के बाद एमसीडी ने मसाज सेंटरों पर सख्ती की जा रही है। साउथ एमसीडी ने 78 ऐसे मसाज सेंटर की लिस्ट तैयार की है, जो बिना लाइसेंस के चल रहे हैं। इन्हें सील किया जाएगा। इसके अलावा मसाज सेंटरों के लिए एमसीडी नई पॉलिसी भी तैयार करेगी, जिसमें क्रॉस जेंडर मसाज की अनुमति नहीं होगी। मसाज सेंटर चलाने वाले लोगों को रिसेप्शन पर सीसीटीवी कैमरे भी लगाने होंगे, ताकि जो लोग इसमें आ रहे हैं उन पर निगरानी रखी जा सके। यह मामला सोमवार को स्टैंडिंग कमेटी की मीटिंग में भी उठाया गया।
साउथ MCD स्टैंडिंग कमेटी के मेंबर और नेता सदन कमलजीत सहरावत ने दिल्ली महिला आयोग द्वारा अलग-अलग इलाकों में चल रहे मसाज सेंटरों में छापे का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि मसाज सेंटर के नाम पर इन सेंटरों में गलत काम हो रहे हैं इसलिए ऐसे मसाज सेंटरों पर अंकुश लगाने के लिए पॉलिसी में बदलाव करने की जरूरत है। उन्होंने MCD अफसरों को मसाज सेंटरों के लिए नई पॉलिसी बनाने की बात कही, जिसमें यह भी शामिल किया जाए किसी भी मसाज सेंटर में क्रॉस जेंडर मसाज की सुविधा न हो।
297 स्पा/मसाज सेंटर ही वैध
मीटिंग के दौरान साउथ MCD पब्लिक हेल्थ डिपार्टमेंट के अफसरों ने बताया कि चारों जोन को मिलाकर कुल 297 स्पा/मसाज सेंटर चलाने के लिए लाइसेंस है।
इसके अलावा साउथ MCD एरिया में जितने भी स्पा/मसाज सेंटर हैं, वह अवैध हैं। 78 मसाज सेंटरों की पहचान की गई है, जिनके पास लाइसेंस नहीं हैं और इन्हें सील किया जाएगा। इसके अलावा भी जिन मसाज सेंटरों के पास लाइसेंस नहीं होगा, उन्हें भी सील किया जाएगा। इसके पहले 66 स्पा/मसाज सेंटर को नोटिस दिया गया था और उन्हें सील भी कर दिया गया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *