भारतीय क्रिकेटर्स की नई पीढ़ी ‘अविश्वसनीय’: बल्लेबाजी कोच

हैमिल्टन। बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने आज भारतीय क्रिकेटर्स की नई पीढ़ी को ‘अविश्वसनीय’ करार दिया और कहा कि टीम प्रबंधन अक्टूबर नवंबर में होने वाले टी20 विश्व कप के लिए अहम खिलाड़ियों की पहचान कर चुका है।
राठौड़ भारत और न्यू जीलैंड के बीच बुधवार को सेडन पार्क में होने वाले तीसरे टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच की पूर्व संध्या पर बात कर रहे थे। भारत सीरीज में 2-0 से आगे चल रहा है।
अधिक बदलाव नहीं होंगे
राठौड़ ने कहा, ‘आखिरी क्षणों तक समायोजन जारी रहेगा लेकिन जहां तक मेरी और टीम प्रबंधन की बात है तो हमने महत्वपूर्ण खिलाड़ियों की पहचान कर ली है। हम जानते हैं कि हमारी टीम कैसी होगी। अगर चोट या बेहद खराब फॉर्म का मामला नहीं होता तो मुझे नहीं लगता कि बहुत अधिक बदलाव होंगे।’
ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप ध्यान में रखते हुए भारत ने पिछले साल सितंबर से ही प्रयोग शुरू कर दिए थे और उसने श्रेयस अय्यर, वॉशिंगटन सुंदर, दीपक चाहर और शिवम दुबे जैसे युवा खिलाड़ियों को मौका दिए।
युवाओं की तारीफ की
टी20 टीम न्यू जीलैंड में वास्तव में अच्छा प्रदर्शन कर रही है और युवा खिलाड़ी सफलता में अहम योगदान दे रहे है जिससे बल्लेबाजी कोच काफी प्रभावित हैं। राठौड़ ने कहा, ‘क्रिकेटरों की यह नई पीढ़ी अविश्वसनीय है। वे जिस तरह से तुरंत सामंजस्य बिठाते हैं, वह वास्तव में हैरानी भरा है। वे वास्तव में अलग प्रारूप, अलग मैदानों और अलग देशों में उतरते ही अपना सर्वश्रेष्ठ दे रहे हैं। यहां न्यू जीलैंड में जिस तरह से उन्होंने बहुत कम समय में परिस्थितियों से तालमेल बिठाया है वह वास्तव में लाजवाब है।’
राहुल और अय्यर हैं काबिल
भारत ने केएल राहुल और अय्यर की शानदार फॉर्म के दम पर ऑकलैंड में पहले दोनों मैच जीते। बल्लेबाजी कोच ने संतोष जताया कि युवा बल्लेबाज टीम की सफलता में योगदान दे रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘इन खिलाड़ियों को जितने अधिक मौके मिल रहे हैं वे दिखा रहे है कि वे काबिल है। वे दिखा रहे हैं कि वे मैच विजेता है। इससे निश्चित तौर पर टीम को मदद मिलती है लेकिन इससे उनका आत्मविश्वास भी बढ़ता है।’
टीम की रणनीति में नहीं होंगे बदलाव
राठौड़ ने कहा, ‘केएल राहुल और श्रेयस को लेकर मुझे कोई संदेह नहीं कि वे मैच विजेता है। उन्हें अब मौका मिल रहा है और वे दुनिया को दिखा रहे हैं कि वे क्या कर सकते हैं।’ अगले तीन मैच हैमिल्टन, वेलिंग्टन और माउंट मानगानुई में होंगे जहां ऑकलैंड की तुलना में मैदान बड़े हैं। राठौड़ ने हालांकि संकेत दिए कि टीम की रणनीति नहीं बदलेगी।
उन्होंने कहा, ‘आपको परिस्थितियों के अनुसार चलना होता है। यह (सेडन पार्क) बड़ा मैदान है लेकिन हम फिर भी अच्छी क्रिकेट खेलने पर ध्यान दे रहे हैं। मुझे नहीं लगता कि इसमें (रणनीति) बदलाव होगा। हो सकता है कि गेंदबाजों को अपनी लेंथ में बदलाव करना पड़े लेकिन बल्लेबाजों को कोई बदलाव करने की जरूरत नहीं है।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *