जम्मू-कश्मीर के नए डीजीपी बने Dilbag Singh, एसपी वैद्य हटाए गए

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में राज्‍यपाल ने डीजीपी एसपी वैद्य को हटाकर Dilbag Singh को राज्‍य का नया पुलिस प्रमुख बनाया है। जम्मू-कश्मीर के पुलिस प्रमुख एस. पी. वैद्य को गुरुवार देर रात उनके पद से हटा दिया गया।

Dilbag Singh अभी तक पुलिस महानिदेशक (कारागार) का प्रभार संभाल रहे थे, उन्‍हें राज्य के पुलिस प्रमुख का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। पुलिस महानिदेशक (कारागार) Dilbag Singh को राज्य के पुलिस प्रमुख का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है।

गृह विभाग के प्रधान सचिव द्वारा आदेश में कहा गया है कि 1986 बैच के आईपीएस अधिकारी वैद्य का तबादला यातायात आयुक्त के पद पर किया गया है। आदेश में लिखा है… ‘एक स्थायी व्यवस्था होने तक 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी और कारागार विभाग के प्रमुख दिलबाग सिंह इस पद का अतिरिक्त प्रभार संभालेंगे।’

इससे दो दिन पहले सीआईडी के एडीजे पद पर अब्दुल गनी मीर की जगह बी श्रीनिवासन को नियुक्त कर दिया गया था। बताया जा रहा है घाटी में बढ़ रहीं आतंकी घटनाओं से केंद्र सरकार और नए राज्यपाल सत्यपाल मलिक नाखुश चल रहे रहे थे, जिसके बाद यह कदम उठाए गए हैं। पिछले ही सप्ताह दक्षिण कश्मीर में आतंकियों ने पुलिसकर्मियों के 12 रिश्तेदारों का अपहरण कर लिया था। इसके बाद एक हिज्बुल मुजाहिद्दीन के बड़े आतंकी के पिता को रिहा किया गया, जिसके बाद पुलिसकर्मियों के रिश्तेदारों को बिना कोई नुकसान पहुंचाए छोड़ दिया गया। इस बीच जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने राज्य के पुलिस चीफ के ट्रांसफर में जल्दबाजी पर सवाल उठाए हैं। उमर ने ट्वीट कर कहा कि वैद के ट्रांसफर में इतनी जल्दबाजी नहीं दिखानी चाहिए थी। स्थायी इंतजाम होने पर ही यह तबादला किया जाना चाहिए था। एसपी वैद को ऐसे समय हटाया गया है जब कुछ दिन पहले ही घाटी में आतंकियों ने 3 पुलिसकर्मियों और अन्य पुलिसकर्मियों के 8 परिजनों को अगवा किया था और जिनकी रिहाई के बदले आतंकियों के गिरफ्तार परिजनों को छोड़ा गया।
जम्मू-कश्मीर के नए राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कार्यभार संभालने के कुछ ही दिनों बाद एसपी वैद की अहम प्रशासनिक शक्तियों में कटौती कर दी थी, जिसमें ऑपरेशनल फंड को मंजूरी देने का अधिकार भी शामिल था। इतना ही नहीं, वैद से कुछ अहम शक्तियां वापस लेकर उनके जूनियर मुनीर खान को सौंप दी गईं।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »