शादी के लिए नई मांग: लड़की कम पढ़ी-लिखी हो तो चलेगा किंतु सोशल मीडिया की लत न हो

सरकारी नौकरी कर रहा एक युवक शादी की तैयारी कर रहा है। अपनी होने वाली पत्नी के लिए उसकी कुछ मांगें हैं, उसकी प्रमुख मांग यह है कि लड़की को सोशल मीडिया यानी कि फेसबुक-वॉट्सऐप की लत नहीं होनी चाहिए। इसके लिए उसकी शिक्षा को लेकर भी समझौता किया जा सकता है। शादी के लिए आने वाले विज्ञापनों में अब यह नया ट्रेंड बन गया है, जिस पर विशेषज्ञों ने चिंता जताई है।
शादी के लिए विज्ञापनों के मामले में यह नया ट्रेंड है, जो लगातार बढ़ता ही जा रहा है। सोशल मीडिया की लत के मामले में भारत पिछले साल जुलाई तक टॉप पर बना हुआ था। देश में फेसबुक चलाने वाले 24.1 करोड़ लोग हैं तो वहीं वॉट्सऐप का इस्तेमाल 20 करोड़ लोग करते हैं।
सोशल साइंस एक्सपर्ट प्रसान्ता रे ने इस ट्रेंड पर चिंता जाहिर करते हुए कहा, ‘शादी के विज्ञापनों में लोग अगर इस तरह के विज्ञापन दे रहे हैं तो इसके पीछे वजह भी है। ऐसे लोग नहीं चाहते कि उनकी पार्टनर सोशल मीडिया के माध्यम से किसी से जुड़े। यह शादीशुदा जीवन पर असर डाल सकता है। ऐसे लोग दुनिया के सामने अपनी निजी जिंदगी का खुलासा नहीं करना चाहते।’
वहीं पूर्व पुलिस अधिकारी पल्लब कांति घोष ने इस पर चर्चा करते हुए कहा, ‘सोशल मीडिया के कई बुरे प्रभाव भी हैं। बहुत सी फेक प्रोफाइल भी हैं, जिससे धोखाधड़ी की आशंका भी बनी रहती है। इसके अलावा सोशल मीडिया के बहुत अधिक प्रयोग से तनाव, अनिद्रा, बेचैनी भी बढ़ जाती है।’
-एजेंसी