कोहली की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद नया विवाद, गावस्कर ने गांगुली से जवाब मांगा

टेस्ट क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ़्रेंस करके जो कुछ कहा, उससे एक नया विवाद का जन्म हुआ है. रोहित के साथ अपने संबंधों पर भले सफ़ाई दी लेकिन वनडे से अपनी कप्तानी वापस लिए जाने को लेकर जो कुछ कहा, उससे कई सवाल खड़े होते हैं.
ऐसा लग रहा है कि बीसीसीआई और उनके बीच सीधा संपर्क नहीं है और दोनों के बयानों में काफ़ी फ़र्क़ है.
पिछले हफ़्ते 33 साल के विराट कोहली को वनडे टीम के कप्तान से हटा दिया गया था और यह ज़िम्मेदारी रोहित शर्मा को दे दी गई थी. कोहली ने बुधवार को बताया कि उन्हें डेढ़ घंटे पहले बताया गया था कि उनके पास अब वनडे की कप्तानी नहीं है.
इसके अलावा विराट कोहली ने ये भी कहा कि उन्होंने अक्टूबर महीने में जब टी-20 की कप्तानी छोड़ने का फ़ैसला किया तो बीसीसीआई की तरफ़ कभी नहीं कहा गया कि मैं अपने निर्णय पर फिर से विचार करूं.
कोहली ने कहा कि उन्हें रोका नहीं गया. बीसीसीआई प्रमुख सौरव गांगुली ने दावा किया था कि उन्होंने विराट कोहली से अनुरोध किया था कि वे कप्तानी ना छोड़ें.
अब भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने पूरे विवाद को लेकर इंडिया टुडे से कहा है कि गांगुली से पूछा जाना चाहिए कि दोनों के बयानों में असंगति क्यों है?
गावस्कर ने इंडिया टुडे से कहा, ”मुझे लगता है कि कोहली वास्तव में बीसीसीआई को पूरे विवाद में नहीं लाए हैं. यह व्यक्तिगत मामला है और इसलिए गांगुली से पूछा जाना चाहिए कि उन्हें कैसे लगा कि कोहली को संदेश मिल गया है. हाँ वो बीसीसीआई प्रमुख हैं और उनसे पूछा जाना चाहिए कि दोनों के बयानों में फ़र्क़ क्यों है?”
गावस्कर ने कहा, ”शायद बीसीसीआई प्रमुख ही सबसे माकूल व्यक्ति हैं, जिनसे इस बारे में पूछा जाना चाहिए. मुझे लगता है कि बोर्ड खिलाड़ी और प्रशंसकों के बीच सीधा संपर्क होना चाहिए. सीधा संपर्क से अटकलों पर विराम लगता है. चयन समिति और बीसीसीआई को सीधा बताना चाहिए कि क्यों किसी को लाया गया और किसी को नहीं लाया गया. कई बार ऐसे मामलों में प्रेस रिलीज़ भी एक अच्छा विकल्प होता है.”
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *