गुलाम नबी का नया आरोप, कश्‍मीर में पुलिस नौजवानों को जबरन उठा रही है

नई दिल्‍ली। आर्टिकल 370 खत्म किए जाने के बाद से ही सरकार पर कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद बेहद तल्ख अंदाज में हमले कर रहे हैं। छात्र नेता शहला राशिद के बाद आज आजाद ने भी कश्मीर के हालात को लेकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कश्मीर में स्थिति चिंताजनक है। नौजवान छात्रों को जबरन घरों से उठाया जा रहा और लोगों में डर का माहौल है।
कश्मीर में पुलिस नौजवानों को उठाकर ले जा रही है
एक मीडिया चैनल से बात करते हुए आजाद ने दावा किया कि कश्मीर में स्थिति ठीक नहीं है। जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम ने कहा, ‘कश्‍मीर में सब कुछ शांतिपूर्ण तरीके से हो रहा है के दावों में दम नहीं है। लोग खौफ और दहशत के माहौल में हैं। नौजवानओं को पुलिस और सुरक्षा बल जबरन उठाकर ले जा रहे हैं। सरकार बताए कि अब तक कितने लोगों को गिरफ्तार किया गया है?’
नेताओं की गिरफ्तारी पर कांग्रेस नेता ने साधा निशाना
गुलाम नबी आजाद ने कश्मीर में नेताओं को नजरबंद किए जाने पर भी सवाल उठाया।
उन्होंने कहा, ‘सरकार बताए कि अगर हालात सामान्य हैं तो नेताओं को क्यों अरेस्ट किया जा रहा है। नेताओं को घर में क्यों बंद कर रखा जा रहा है। लोंगों के घरों से निकलने पर पाबंदी है। अगर सब कुछ ठीक है तो ऐसा पाबंदियां क्यों लगाई जा रही हैं? प्रदेश के नेताओं को तत्काल रिहा किया जाना चाहिए।’
NSA की यात्रा पर भी गुलाम ने साधा था निशाना
बता दें कि इससे पहले भी आजाद ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार की कश्मीर यात्रा पर निशाना साधा था। उन्होंने अजित डोभाल के स्थानीय लोगों के साथ खाना खाने पर कहा था कि पैसे देकर किसी से भी कुछ भी बुलवाया जा सकता है। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने एक सप्ताह का वक्त कश्मी के विभिन्न हिस्सों में बिताया था। उन्होंने सुरक्षा बलों के साथ ही स्थानीय लोगों से भी मुलाकात की थी।
शहला राशिद ने भी सैन्य बलों पर लगाया आरोप
बता दें कि छात्र नेता शहला राशिद ने भी कल सिलसिलेवार ढंग से एक के बाद एक कई ट्वीट कर ऐसे ही आरोप लगाए थे। हालांकि, भारतीय सेना की ओर से स्पष्ट कर दिया गया कि शहला के सभी दावे पूरी तरह से बेबुनियाद हैं। सेना की ओर से जारी बयान में कहा गया कि कश्मीर में हालात बिल्कुल ठीक हैं। आज से कश्मीर के कई हिस्सों में स्कूल भी खुल गए हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *