लुधियाना में है ‘नेकी की दुकान’, हर सामान की कीमत 10 रुपये

Neki ki dukan in ludhiana, every item costs 10 rupees
लुधियाना में है ‘नेकी की दुकान’, हर सामान की कीमत 10 रुपये

लुधियाना। हम अक्सर ऐसे लोगों के बारे में सोचते हैं जो समाज को अपना योगदान देने के लिए परंपरा से हटकर कुछ करते हैं। लुधियाना में एक गैर सरकारी संगठन कुछ ऐसा ही काम कर रहा है। इसने एक ऐसी दुकान खोली है जिसमें हर सामान की कीमत 10 रुपये रखी गई है। ऐसा सुविधाविहीन लोगों की मदद के लिए किया जा रहा है।
इस दुकान में कपड़े, जूते, खिलौने, किताबें, बर्तन और घर के फर्नीचर भी मिलते हैं, जिसकी कीमत सिर्फ 10 रुपये रखी गई है। दरअसल, ये सेकंड हैंड सामान हैं। एनजीओ ‘नेकी की दुकान’ के एक सदस्य ब्रजेंद्र सिंह बताते हैं कि उन्होंने आम जनता से अपील की कि वे अपने घर में इस्तेमाल न होने वाला सामान उन्हें दान में दें ताकि इससे सुविधाविहीन लोगों की मदद की जा सके।
यहां सामान आधार कार्ड देकर खरीदा जा सकता है लेकिन एक महीने में सिर्फ 5 सामानों की ही खरीदारी की जा सकती है। ये आधार कार्ड के जरिए ग्राहक का डेटा अपने सिस्टम में फीड कर लेते हैं ताकि उन्हें यह पता चल सके कि किस ग्राहक ने कब आखिरी बार खरीदारी की थी। दुकान सुबह 6 बजे से शाम 7 बजे खुला रखा जाता है। यह संस्था गरीब लोगों को मुफ्त इलाज भी मुहैया कराता है।
ब्रजेंद्र ने कहा, ‘हमने यह एनजीओ 2014 में शुरू किया था। इसका मकसद गरीब मरीज की मदद करना था। अभी हमारे 250 से अधिक सदस्य हैं। हम अनयूज्ड सामान को भी रिसाइकल करना चाहते थे।’ उन्होंने कहा कि हमने सेकंड हैंड सामान को उन लोगों को देने का फैसला किया जो गरीब हैं और उनके पास पहनने के भी कपड़े नहीं हैं। ब्रजेंद्र ने आगे बताया, ‘हमने आम जनता से अपील की कि वे बिना इस्तेमाल के सामान हमें दान करें।’
उन्होंने इसका नाम ‘नेकी की दुकान’ रखने के पीछे वजह गिनाते हुए कहा कि वह नहीं चाहते थे कि इसे किसी धर्म से जोड़ा जाए, वर्ना लोगों समझते कि यह किसी खास धर्म के लोगों की मदद के लिए है। यह दुकान सभी धर्म के लोगों के लिए है। वहीं, दुकान में मौजूद एक ग्राहक बेहद खुश नजर आए। जालंधर के रहने वाले राजेंद्र ने कहा कि यह बेहद नेकी का काम है और वह चाहते हैं कि उनके शहर में भी यह दुकान खोली जाए।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *