NEET-JEE परीक्षा: कांग्रेस का देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन शुरू

नई दिल्‍ली। NEET-JEE को लेकर विपक्ष आक्रामक है। अब राहुल गांधी ने ऑनलाइन लोगों से जुड़ने की अपील की है। उन्होंने सरकार के विरोध में एक ऑनलाइन मिशन शुरू किया है।
कांग्रेस ने देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। दिल्ली के शास्त्री भवन के बाहर बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता जुटे हैं। चेन्नै में भी कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे हैं।
सुब्रमण्यम स्वामी का ट्वीट
राज्‍यसभा सांसद और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने स्टूडेंट्स की तुलना द्रौपदी और मुख्यमंत्रियों की भगवान कृष्ण से की है। साथ ही अपने आपको विदुर बताया है।
सुब्रमण्यम स्वामी ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘आज NEET और JEE परीक्षा के मामले में क्या छात्रों को द्रौपदी जैसे अपमानित किया जा रहा है?
सीएम कृष्ण की भूमिका निभा सकते हैं। एक छात्र के रूप में और फिर 60 वर्षों तक प्रोफेसर के रूप में मेरे अनुभव बताते हैं कि कुछ गलत होने वाला है। मुझे विदुर जैसा लगता है।’
पीएम मोदी को लिखी गई चिट्ठी
दरअसल, इन परीक्षाओं को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। देशभर में इन परीक्षाओं को लेकर दो खेमे बन चुके हैं। एक खेमा परीक्षा के खिलाफ है तो दूसरा इसके पक्ष में। एक ओर जहां देश के 7 गैर भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने सितंबर में परीक्षाएं कराने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने का फैसला किया है वहीं दूसरी ओर देश-विदेश के 150 से ज्यादा शिक्षाविदों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर अपील की है कि परीक्षाएं रोक दी जाएं।
चीन और जर्मनी का दिया उदाहरण
शिक्षा मंत्री चीन में होने वाले नेशनल कॉलेज प्रवेश परीक्षा Gaokao Exam और जर्मनी में उच्च शिक्षण संस्थानों के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षा Abitur का हवाला दिया। उन्होंने कहा कि इन देशों में कोविड-19 महामारी के दौरान प्रवेश परीक्षाएं आयोजित हुई हैं।
निशंक बोले, जीवन चलने का नाम
उधर, केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा है कि हालांकि देश कोरोना महामारी के दौर से गुजर रहा है लेकिन एकेडिमक और छात्रों का करियर को बर्बाद नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा, ‘जीवन बढ़ने का नाम है और हमें मजबूत बनना होगा।’ बता दें JEE की परीक्षा 1 से 6 सितंबर के बीच होगी और NEET की परीक्षा 13 सितंबर को कराई जाएगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *