पीएनबी घोटाले के आरोपी Neerav Modi ने भारत लौटने से किया इंकार

नई दिल्‍ली। पीएनबी घोटाले के आरोपी Neerav Modi ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए कहा है कि मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है और मैं सुरक्षा कारणों से देश वापस नहीं लौट सकता।

पिछले दिनों समाचार एजेंसी एएनआई को दिए अपने पहले इंटरव्यू में पीएम नरेंद्र मोदी ने एक कहा था कि विजय माल्या और Neerav Modi को इसलिए भागना पड़ा क्योंकि उन्हें यहां कानून का पालन करना पड़ेगा। हमने कड़ा कानून बनाया है। जो भागे हैं वे आज नहीं तो कल भारत लाए जाएंगे।
ईडी ने याचिका दाखिल कर नीरव मोदी को आर्थिक भगोड़ा घोषित करने की मांग की
विशेष पीएमएल कोर्ट में ईडी ने याचिका दाखिल कर नीरव मोदी को आर्थिक भगोड़ा घोषित करने की मांग की। इस पर नीरव मोदी ने कहा है कि मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है। पीएनबी स्कैम सिविल ट्रांजेक्शन थी और उस मामले को तूल दिया जा रहा है। मैं सुरक्षा कारणों से देश वापस नहीं लौट सकता। वहीं प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 13,500 करोड़ रुपये के पीएनबी (पंजाब नेशनल बैंक) घोटाले की जांच के सिलसिले में मेहुल चोकसी के गीतांजलि समूह की कंपनी एब्बेक्रेस्ट लिमिटेड की थाईलैंड में एक फैक्ट्री को जब्त करने का अनुरोध भेजा है, जिसकी कीमत 13 करोड़ रुपये है।

वित्तीय जांच एजेंसी ने कहा कि उसने थाईलैंड के अधिकारियों के साथ संपत्ति को जब्त करने का आवेदन धनशोधन निवारक अधिनियम के तहत भेजा है। ईडी अधिकारी ने कहा कि जांच के दौरान यह पाया गया है कि पंजाब नेशनल बैंक सेे फजीर् दस्तावेजों के सहारे लिए गए 92.3 करोड़ रुपये मूल्य के लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (एलओयूज) का लाभाथीर् एब्बेक्रेस्ट (थाईलैंड) लि. रही है।

नीरव मोदी के खिलाफ 15 फरवरी 2018 को सीबीआई ने दर्ज किया था केस
चोकसी और उसके भांजे नीरव मोदी की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और ईडी कर रही हैं। ईडी ने सीबीआई द्वारा दर्ज की गई एफआईआर के आधार पर पिछले साल 15 फरवरी को दोनों आरोपियों के खिलाफ मनी लांडरिंग का मामला दर्ज किया था। ईडी अब तक चोकसी और नीरव मोदी की 4,765 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर चुकी है।

मेहुल चौकसी भी भारत आने से कर चुका है मना
पंजाब नेशनल बैंक धोखाखड़ी मामले में वांछित भगोड़े कारोबारी मेहुल चोकसी ने भी मुंबई की एक कोर्ट से लिखित में कहा कि वह एंटीगुआ से 41 घंटे की यात्रा कर भारत नहीं आ सकता। इसके लिए उसने अपनी खराब सेहत का हवाला दिया है। चोकसी ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) पर आरोप लगाया है कि उसकी स्वास्थ्य की जानकारी न देकर कोर्ट को गुमराह किया गया है। उसने यह भी कहा था कि वह अपना बकाया चुकाने के लिए बैंकों के संपर्क में है। उसने कहा कि वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जांच से जुड़ने के लिए तैयार है। ईडी ने कोर्ट से कहा था कि मेहुल चोकसी को भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किया जाए और उसकी संपत्ति जब्त करने के आदेश दिए जाएं।

ब्रिटेन में है Neerav Modi 
विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह ने पिछले साल राज्यसभा में एक सवाल पर कहा था कि मैनचेस्टर के नेशनल सेंट्रल ब्यूरो ने भारतीय एजेंसियों को बताया कि उनकी जांच में ब्रिटेन में नीरव मोदी के ठिकाने का पता चला है। उन्होंने कहा था कि अगस्त, 2018 में सरकार ने ब्रिटेन के अधिकारियों को नीरव मोदी को भारत को प्रत्यर्पित किए जाने के लिए दो अनुरोध भेजे। एक अनुरोध सीबीआई की ओर से और दूसरा प्रवर्तन निदेशालय की ओर से था। उन्होंने कहा था कि ये अनुरोध फिलहाल ब्रिटेन के संबंधित अधिकारियों के समक्ष विचाराधीन हैं। जून में विदेश मंत्रालय ने नीरव मोदी का पता लगाने के लिए मदद की गुहार लगाते हुए कई यूरोपीय देशों को पत्र लिखा था। नीरव मोदी पंजाब नेशनल बैंक के धोखाधड़ी मामले में वांछित है।

-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »