आयुष्मान भारत योजना का दूसरी बार लाभ लेने के लिए ‘आधार’ जरूरी

नई दिल्ली। सरकार द्वारा चलाई जा रहीं कई सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के लिए ‘आधार’ जरूरी है। अब इसमें एक नया नाम हाल ही में लॉन्च किए गए आयुष्मान भारत योजना का भी जुड़ गया है। आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अतंर्गत 1 बार से ज्यादा लाभ उठाने के लिए अब आधार कार्ड को जरूरी बना दिया गया है। हालांकि पहली बार इस योजना का लाभ लेने पर पूर्व की तरह आधार कार्ड जरूरी नहीं होगा। एक बड़े अधिकारी ने इस बात की जानकारी दी है।
आयुष्मान भारत योजना को लागू करने वाली नेशनल हेल्थ एजेंसी के सीईओ इंदु भूषण ने बताया, ‘इस योजना का लाभ दूसरी बार ज्यादा उठाने के दौरान अगर किसी के पास आधार कार्ड नहीं है तो उसे यह सबूत देना होगा कि लाभार्थी ने आधार के लिए नामांकन करवा लिया है।’ भूषण ने कहा, ‘हम आधार पर दिए सुप्रीम कोर्ट के फैसले का अध्ययन कर रहे हैं। दूसरी बार आयुष्मान भारत का लाभ लेने के लिए आधार नंबर या फिर आधार के लिए नामांकन के सबूत के तौर पर कोई डॉक्युमेंट देना होगा। हालांकि, पहली बार इस योजना का लाभ लेने के लिए कोई आधार या कोई अन्य पहचान पत्र जमा कराया जा सकता है।’
आपको बता दे कि आयुष्मान भारत नेशनल हेल्थ प्रोटक्शन मिशन के नाम में बदलाव करके आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना को 23 सिंतबर को पीएम मोदी झारखंड में लॉन्च किया था। सरकारी आंकड़ों के अनुसार अब तक कम से कम 47,000 लोग इस योजना का लाभ उठा चुके हैं। नेशनल हेल्थ एजेंसी के डेप्युटी सीईओ दिनेश अरोड़ा के अनुसार इस योजना में कम से कम 92,000 लोगों को अब तक गोल्ड कार्ड दिया जा चुका है। इस योजना का उद्देश्य देश के 10.74 करोड़ अत्यंत गरीब परिवारों को सालाना 5 लाख रुपये तक का हेल्थ बेनेफिट देना है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »