यमुना एक्सप्रेसवे प्राधिकरण के Land Scam में 21 आरोपियों के खिलाफ NBW

लखनऊ/नोएडा। यमुना प्राधिकरण में हुए 126 करोड़ के Land Scam में प्राधिकरण के तत्कालीन प्रबंधक अतुल कुमार सहित 21 आरोपियों के खिलाफ कोर्ट ने गैर जमानती वारंट जारी किए हैं , वहीं Land Scam के 20 आरोपी रिटायर्ड आईएएस पीसी गुप्ता व तत्कालीन ओएसडी वीपी सिंह के रिश्तेदार हैं। पुलिस आरोपियों के घरों पर वारंट तामील कराने के बाद कुर्की की कार्रवाई करेगी। पंद्रह दिन पहले भी इस मामले में सात आरोपियों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हुए थे।

Land Scam के आरोपियों में एक सरकारी कर्मचारी भी

कासना कोतवाली में तीन जून को 126 करोड़ के जमीन खरीद घोटाले में रिटायर्ड आईएएस पीसी गुप्ता समेत 21 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था। पुलिस इस मामले में पीसी गुप्ता समेत कुल 5 लोगों को गिरफ्तार करके जेल भेज चुकी है। इसके अलावा जांच के दौरान आरोपियों की संख्या 21 से बढ़कर 40 तक पहुंच चुकी है। इस प्रकरण में कोर्ट से 21 आरोपियों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हुए हैं, जिनमें से एक आरोपी अतुल कुमार सरकारी कर्मचारी हैं।

इसके अलावा पूर्व में तत्कालीन ओएसडी वीपी सिंह, तत्कालीन डीसीईओ सतीश कुमार सिंघल, तहसीलदार सुरेश शर्मा, रणवीर सिंह, मैनेजर प्लानिंग ब्रिजेश कुमार, नायब तहसीलदार चमन सिंह, लेखपाल पंकज कुमार के खिलाफ भी गैर जमानती वारंट हो चुके हैं।

20 आरोपी पीसी गुप्ता और वीपी सिंह के रिश्तेदार

डीएसपी निशांक शर्मा ने बताया कि जिन 21 आरोपियों के खिलाफ कोर्ट से गैर जमानती वारंट हुए उनमें से 20 लोग रिटायर्ड आईएएस पीसी गुप्ता व तत्कालीन ओएसडी वीपी सिंह के रिश्तेदार व परिवार के सदस्य हैं। पुलिस जल्द ही सभी को वारंट की कॉपी तामील कराने कराएगी, जिसके बाद सभी के खिलाफ 82-83 की कार्रवाई कराते हुए कुर्की की कार्रवाई की जाएगी।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »